DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भगवान वासुपूज्य निर्वाण महोत्सव पर मंदारगिरी में निकली भव्य शोभायात्रा

grand procession took place in mandaragiri of baunsi on lord vasupujya nirvana festival in banka

 जैन धर्म के 12 वें तीर्थंकर भगवान वासुपूज्य स्वामी के महापरिनिर्वाण महामहोत्सव पर जैन अनुयायियों ने बांका के बौंसी स्थित भगवान के निर्वाण स्थली मंदारगिरी में धूमधाम के साथ भव्य शोभायात्रा निकाली। 

शोभायात्रा श्री दिगम्बर जैन मंदिर से प्रारंभ होकर हनुमान चौक, बौंसी बाजार, गांधी चौक वापस वासुपूज्य द्वार, पंडा टोला, बारामती जैन मंदिर पापहरणी रोड के रास्ते गाजे-बाजे के साथ मंदार पर्वत तलहटी स्थित जैन मंदिर तक गई। शोभायात्रा के पहले बौंसी स्थित कार्यालय जैन मंदिर में प्रातः अभिषेक, शांतिधारा, पूजन-अर्चना किया गया। वासुपूज्य स्वामी के प्रतिमा जी को सजे-धजे भव्य रथ पर विराजमान कर भव्य शोभायात्रा के साथ रथयात्रा मंदार पर्वत के लिए प्रस्थान हुई।

रथ को रंग-विरंगे फूल-माला, बैलून, पंचरंगा जैन ध्वज आदि से सुसज्जित भव्य तरीके से सजाया गया था। जो बहुत ही आकर्षक लग रहा था और लोगो को आकर्षित कर रहा था ।जिसे देखने लोगो की हुजूम उमड़ पड़ी।रथ पर विराजमान भगवान वासुपूज्य की मनोहारी प्रतिमा श्रद्धालुओं को और भी आकर्षित कर रही थी। सभी की निगाहे सजे-धजे आकर्षित रथ पर थी।

जैन श्रद्धालु हर्षोल्लासपूर्वक झूमते-नाचते, भजन-कीर्तन, महामन्त्र णमोकार का जाप करते हुए चल रहे थे ।इस दौरान जगह - जगह रथ पर विराजमान भगवान वासुपूज्य की मंगल आरती की गई। शोभायात्रा के आगे-आगे जैन पंचरंगा ध्वज, झंडा- पताका लिए श्रद्धालु जैन संदेश देते चल रहे थे। गाजे-बाजे, घंटी के मधुर धुन पर श्रद्धालु नृत्य करते रथयात्रा की शोभा बढ़ा रहे थे। इस महोत्सव को लेकर जैन समाज के बीच खासा उत्साह था।

शोभायात्रा के नगर भ्रमण के दौरान हवन में अर्पित धूप-चंदन से वातावरण पवित्र व सुगंधमय हुआ। भगवान वासुपूज्य के तप, ज्ञान एवं पावन निर्वाण भूमि से सुशोभित मंदारगिरी पर्वत शिखर स्थित मोक्ष कल्याणक मंदिर में प्रभु के अत्यंत प्राचीन चरण पादुका के समक्ष एवं भगवान वासुपूज्य खड्गासन मंदिर में भव्य निर्वाण लाडू चढ़ाया गया। निर्वाण लाडू आकर्षक ढंग़ से शुद्धिपूर्वक तैयार किया गया था।

इससे पूर्व अभिषेक, महामस्तकाभिषेक, शांतिधारा, पूजन-पाठ आदि का कार्यक्रम सम्पन्न किया गया। संगीतमयी वातावरण में श्रद्धापूर्वक श्रद्धालु पूजा-पाठ, भक्ति-आराधना में लगे थे। काफी संख्या में जैन श्रद्धालु दिल्ली, राजस्थान, मध्यप्रदेश, बिहार-झारखण्ड, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, आदि प्रांतो से भारी संख्या में पहुँचे जैन धर्मावलंबी उपस्थित हुए।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:grand procession took place in Mandaragiri of baunsi on Lord Vasupujya Nirvana Festival in banka