DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुड न्यूज! भागलपुर-हावड़ा रेलवे ट्रैक पर अगले साल से इलेक्ट्रिक इंजन पर दौड़ेंगी ट्रेनें

trains will run on electric engine on bhagalpur and howrah railway track from next year

भागलपुर रेलखंड पर विद्युतीकरण का काम फिर से तेज हो गया है। भागलपुर से साहिबगंज के बीच विद्युतीकरण के लिए पोल लगना शुरू हो गया है। लगभग सबौर तक यह काम पूरा हो चुका है। इस प्रोजेक्ट में किऊल से भागलपुर के बीच विद्युतीकरण का काम न सिर्फ पूरा हो चुका है, बल्कि अब विक्रमशिला एक्सप्रेस बिजली पर चल रही है।
    
विद्युतीकरण का यह प्रोजेक्ट किऊल से बोंगी के बीच का है। लगभग ढाई अरब की इस योजना पर 2017 में काम शुरू हुआ है। लक्ष्य के अनुरूप तीन साल में किऊल से बोंगीडेंगा 247 किमी में विद्युतीकरण होना है। लगभग दो साल में किऊल से भागलपुर के बीच विद्युतीकरण पूरा हुआ है। अब भागलपुर से साहिबगंज के बीच ही ज्यादा काम शेष रह गया है। साहिबगंज से बोंगीडेंगा के बीच पोल लगने के बाद कई जगहों पर तार खींचने का भी काम हो रहा है। टारगेट है कि 2020 तक किऊल से बोंगीडेंगा के बीच विद्युतीकरण का काम पूरा करना है। 

विद्युतीकरण योजना सेन्ट्रल ऑर्गनाइजेशन फॉर रेलवे इलेक्ट्रीफिकेशन (सीओआरई) इलाहाबाद से क्रियान्वित हो रही है। हाल ही में सीओआरई के इंजीनियर के साथ जोन के आरई कंस्ट्रक्शन के चीफ इंजीनियर ने भागलपुर रेलखंड पर विद्युतीकरण का निरीक्षण किया था। इसके बाद जोनल कार्यालय में मेंबर ट्रैक्शन घनश्याम सिंह ने समीक्षा भी की थी। इंजीनियर की मानें तो मेंबर ट्रैक्शन ने भागलपुर रेलखंड पर विद्युतीकरण को लेकर खासतौर से निर्देश दिया है कि यह योजना समय पर पूरी हो, ताकि हावड़ा से दिल्ली के लिए नहीं बल्कि नार्थईस्ट से आनेवाली ट्रेनों को भी इसका लाभ मिले।

पूरी योजना एक नजर में 
पूरी योजना में कितनी दूर होना है विद्युतीकरण 247 किमी
योजना पर कार्य प्रारंभ हुआ                मई 2017 से  
विद्युतीकरण योजना पर कुल लागत            दो अरब 30 करोड़ 
योजना पूरी होने की अवधि                36 माह यानी अप्रैल 2020 तक 
भागलपुर से बिजली पर ट्रेन चल रही            मई 2019 से  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Good news: Trains will run on electric engine on Bhagalpur and Howrah railway track from next year