DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जमीन अधिग्रहण का अटका मामला, पिलर का काम गंगा तक पहुंचा

सुल्तानगंज-परबत्ता अगुवानी घाट फोरलेन पुल के निर्माण में सुल्तानगंज की तरफ से पड़नेवाले छह मौजे और परबत्ता की तरफ से पड़ने वाले जमीन अधिग्रहण का मामला प्रखंड से अब जिला भू अर्जन कार्यालय पहुंच गया है। विभाग के कोई अहम निर्देश नहीं मिलने की वजह से जमीन अधिग्रहण की रफ्तार धीमी चल रही है। सीओ सुल्तानगंज शशिकांत कुमार ने बताया कि प्रखंड स्तर से सारी प्रक्रिया पूरी कर ली गयी है। जिला से निर्देश आने के बाद आगे की प्रक्रिया अपनायी जाएगी। दूसरी तरफ निर्माण एजेंसी की ओर से सुल्तानगंज गंगा में पाया निर्माण का काम चल शुरू हो गया है। जलस्तर के लगातार बढ़ने से काम में कठिनाई आ रही है। कार्य में तेजी लाने के लिए नाव की मदद से बीच गंगा में निर्माण सामग्री पहुंचायी जा रही है। एजेंसी का दावा है कि 15 दिन के अंदर गंगा में नियत जगह तक पाया निर्माण का कार्य पूरा कर लिया जाएगा। इसके अलावा सुल्तानगंज बगीचा और परबत्ता के तरफ भी पाया निर्माण का कार्य भी जारी है। जानकारी हो कि पुल निर्माण में 45 पाये का निर्माण कार्य होना है। गंगा के जलस्तर बढ़ने की वजह से पाया निर्माण कार्य और 15 दिन ही चल पाएगा। हालांकि एजेंसी एसपी सिंगला का दावा है कि इस बारिश के बाद पिलर के ऊपर काम भी शुरू हो जाएगा। एजेंसी की मानें तो तय समय 2020 तक निर्माण कार्य पूरा कर लिया जाएगा। वहीं गंगा की सहधारा में बनने वाला पाया का निर्माण भी पूरा कर लिया गया है। एजेंसी के लिए यह चुनौती होगी कि इस बाढ़ में वो बनाया पाया कितना ठीक पाता है। एजेंसी की माने तो इसी आधार पर आगे की प्रक्रिया अपनायी जाएगी। एक नजर एजेंसी एसपी सिंगला कंपनी निर्माण कार्य शुरु : मार्च 2014 3170 मीटर : होगी पुल की लंबाई 1710 करोड़ रुपए : आएगी पुल की राहत 20 किमी : होगी एप्रोच पथ की लंबाई 2020 तक : पूरा होना है निर्माण कार्य

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ganga bridge land acquisition work stops