DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फर्जी जाति प्रमाण पत्र देकर नौकरी पाए चार शिक्षकों पर गिरी गाज, हुए सस्पेंड  

investigation, fake teacher, saharsa, vigilance investigation

सहरसा में फर्जी जाति प्रमाणपत्र पर बहाल कर दो प्रधानाध्यापक व एक जिला संवर्ग के शिक्षक को निलंबित कर दिया गया है। जबकि एक नियोजित शिक्षक को निलंबित करने के लिए नियोजन इकाई को पत्र लिखा गया है।

डीपीओ स्थापना राहुलचंद्र चौधरी ने बताया कि शिक्षक कुर्मी जाति से आने के बावजूद फर्जी प्रमाण पत्र के आधार पर अत्यंत पिछड़ा वर्ग अंतर्गत धानुक जाति के प्रमाण पत्र बनाकर सरकारी सेवा का लाभ लेने के कारण निलंबित किया गया है। प्रमंडलीय आयुक्त के आदेश के बाद क्षेत्रीय शिक्षा उपनिदेशक के निर्देश के बाद यह कार्रवाई की गई है।

जिला मध्य विद्यालय महिसरहो महिषी में प्रधानाध्यापक के पद पर कार्यरत कैलाश राय, कन्या मध्य विद्यालय महिषी में प्रधानाध्यापक के पद पर कार्यरत ताराकांत राय, उत्क्रमित मध्य विद्यालय सराही कहरा में सहायक शिक्षिका के पद पर कार्यरत अनिता कुमारी को फर्जी जाति प्रमाण पत्र पर कार्य करने को लेकर तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। मध्य विद्यालय भगवानपुर महिषी में प्रखंड शिक्षिका के रूप में कार्यरत रंजू कुमारी को भी निलंबित करने के लिए सदस्य सचिव सह बीडीओ महिषी को अनुशंसा की गई है। 

सीता देवी के आवेदन पर शिक्षा विभाग में कार्यरत हैं उनके भी प्रमाण पत्र की जांच करने की मांग की थी। जांच के आलोक में इन सबों का जाति प्रमाण पत्र फर्जी पाया गया। ये सभी अत्यंत पिछड़ी जाति धानुक जाति के प्रमाण पत्र पर  शिक्षक के रूप में कार्य कर रहे थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Four teachers suspended in saharsa who got jobs in fake certificate