ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार भागलपुरपरीक्षा सिर पर लेकिन नहीं बन सकी स्पेशल क्लास की टीम

परीक्षा सिर पर लेकिन नहीं बन सकी स्पेशल क्लास की टीम

भागलपुर, वरीय संवाददाता। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा मैट्रिक और इंटरमीडिएट के बोर्ड की...

परीक्षा सिर पर लेकिन नहीं बन सकी स्पेशल क्लास की टीम
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,भागलपुरSun, 22 Jan 2023 01:41 AM
ऐप पर पढ़ें

भागलपुर, वरीय संवाददाता। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा मैट्रिक और इंटरमीडिएट के बोर्ड की परीक्षाओं को ध्यान में रखते हुए छात्रों के लिए जिला स्तर पर स्पेशल क्लास शुरू की जानी थी लेकिन नहीं शुरू किया जा सका। कोर्स भी पूरा नहीं हुए हैं। ऐसे में बिना कोर्स पूरा किये ही छात्रों को बोर्ड की परीक्षा देनी होगी।

करीब चार महीने पहले ही यह कवायद शुरू की गई थी कि जिले में मैट्रिक और इंटरमीडिएट की बोर्ड की परीक्षा के स्पेशल क्लास के लिए जिला के खास शिक्षकों को चुना जायेगा। ये शिक्षक जिला में किसी स्थान विशेष पर जाकर पढ़ायेंगे। इसमें जिला के संभावित टॉपर बच्चों को रखकर कुछ दिन क्लास चलाया जायेगा। सिर्फ इतना ही नहीं इनके वीडियों बच्चों में शेयर किये जायेंगे और लाइव क्लास किया जायेगा। जिससे अन्य बच्चे जुड़ सकते हैं। जिला के बेहतर शिक्षक होने के कारण इनका लाभ शिक्षकों को मिल सकेगा। लेकिन कुछ शिक्षकों को चयन तो किया गया लेकिन इस योजना को अमलीजामा नहीं पहनाया जा सका। जिला शिक्षा विभाग के पदाधिकारियों ने कहा कि शिक्षकों को शहर और ग्रामीण दोनों क्षेत्रों से चयन किया गया था। इसे परीक्षा के एक महीने पहले से शुरू किया जाना था लेकिन जनगणना को लेकर शिक्षकों की ड्यूटी लग गई जिसके कारण ये स्पेशल क्लास नहीं शुरू किये जा सके।

कोर्स अधूरा, ट्यूशन व कोचिंग ही सहारा

अधिकतर स्कूलों में छात्रों के कोर्स पूरे नहीं हुए हैं। कहीं शिक्षक नहीं होने के कारण इनके कोर्स अधूरे हैं तो कहीं शिक्षक हैं तो भी कोर्स पूरे नहीं हो सके हैं। क्योंकि कुछ शिक्षकों पर ही कार्य का काफी दबाव होने के कारण वे कोर्स पूरा नहीं करा पाये हैं। ऐसी स्थिति में कई छात्रों ने ट्यूशन या कोचिंग का सहारा लिया है। हालांकि ऐसे भी छात्र हैं जो खुद ही पढ़ाई किये हैं और अब परीक्षा अगले महीने से होने वाली है।

जनगणना में लगने के कारण शिक्षकों की स्पेशल टीम नहीं बनाई जा सकी। जिसके कारण स्पेशल क्लास नहीं हो पा रहा है। लेकिन स्टडी मैटेरियल स्कूलों बंटवा दिया गया है। इसे छात्रों के ग्रुप में बंटवा दिया गया है ताकि परीक्षा के पहले ये छात्र पढ़कर परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन कर सकें।

संजय कुमार, जिला शिक्षा पदाधिकारी, भागलपुर

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें