DA Image
18 जनवरी, 2021|10:47|IST

अगली स्टोरी

मां दुर्गा की प्रतिमा व मेला पर संशय, अंतिम फैसला छह को

default image

मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित करना अब पूजा समितियों के लिए मुश्किल होता जा रहा है। प्रशासन की ओर से कोई भी गाइडलाइन नहीं मिल रहा है। सिर्फ बैठकों का दौर जारी है। पूजा में अब मात्र 13 दिन ही शेष बचे हैं। शनिवार को दुर्गापूजा महासमिति व सार्वजनिक दुर्गा पूजा समिति, नाथनगर का एक शिष्टमंडल अध्यक्ष अभय घोष सोनू के नेतृत्व में डीएम से मिला और प्रतिमा स्थापित करने का आदेश देने की मांग की। जिसपर डीएम ने कहा कि 100 से अधिक लोगों के भीड़ पर पाबंदी है। इस मामले में एसडीओ जल्द मेढ़पति के साथ बैठक करेंगे।  संयोजक विनय कुमार सिन्हा ने बताया कि टाउन हॉल में एसडीओ मंगलवार को मेढ़पति व पूजा समितियों के बीच बैठक करेंगे। जिसमें प्रतिमा स्थापित व मेला लगने पर अंतिम फैसला होगा। उन्होंने बताया कि डीएम के साथ बैठक में झारखंड व यूपी में भी प्रतिमा निर्माण का आदेश देने की बात भी उठायी गयी थी।संयोजक ने बताया कि डीएम से कहा गया कि चुनाव के दौरान रैली हो सकती है तो मां के दर्शन व पूजा भी हो सकती है। इसपर डीएम ने कहा कि चुनाव हो या पूजा जहां भी 100 से अधिक लोग जुटेंगे वहां प्रशासनिक कार्रवाई की जाएगी। भीड़ की जानकारी लेने के लिए ड्रोन कैमरे की मदद ली जाएगी।  विसर्जन की आयेगी समस्याअध्यक्ष अभय घोष सोनू ने बताया कि 26 अक्टूबर को विजयादशमी है और 27 अक्टूबर को विजर्सन होना है। 28 को कहलगांव व सुल्तानगंज में चुनाव भी संपन्न कराना है। ऐसी स्थिति में प्रशासन को परेशानी होगी। इस स्थिति को देखते हुए डीएम ने सदर एसडीओ को मेढ़पति व पूजा समिति से सामंजस्य स्थापित करने का निर्देश दिया है। महासमिति ने कलश स्थापित करने के साथ प्रतिमा स्थापित करने का ज्ञापन भागलपुर के वरीय पुलिस अधीक्षक, नवगछिया के पुलिस अधीक्षक, सदर एसडीओ भागलपुर व नवगछिया को सौंपा है। महासचिव जयनंदन आचार्य, कार्यकारी अध्यक्ष मानिक पासवान, आनंद मिश्रा, भगवान यादव, तरूण घोष, कन्हैया लाल, सुरविंद्र भट्ट आदि मौजूद थे।  

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Doubt over the statue and fair of Maa Durga final decision on six