अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार: जिस जेल में जाते थे कैदियों की जांच करने, उसी में बंदी बना डॉक्टर

doctor become prisoner

जिस जेल में कैदियों के दांतों की जांच करने जाते थे, उसी जेल में बंद कर दिये गये डॉक्टर साहब। शराब के नशे में घर में पत्नी से गालीगलौज और हंगामा करने के आरोप में दांत के डॉक्टर उज्ज्वल कुमार सिंह को पुलिस ने तिलकामांझी के शीतला स्थान रोड स्थित उनके आवास से रविवार की रात गिरफ्तार किया। सोमवार को उन्हें कोर्ट में पेश किया गया, जहां से सेंट्रल जेल भेज दिया गया। 

सेंट्रल जेल में तीन दिन जाते थे जांच करने 
सदर अस्पताल में दांत के डॉक्टर उज्ज्वल कुमार सिंह सप्ताह में तीन दिन सेंट्रल जेल में कैदियों की जांच के लिए जाते थे। उन्हें सेंट्रल जेल ही भेजा गया। तिलकामांझी में पदस्थापित एएसआई सुरेंद्र सिंह के बयान पर डॉक्टर उज्ज्वल पर केस दर्ज किया गया। उन्होंने लिखा है कि रविवार की रात उन्हें सूचना मिली की एक व्यक्ति नशे में अपने घर में हंगामा कर रहा है। पड़ोस के लोगों ने ही पुलिस को सूचित किया था। एएसआई रात के 11 बजे पहुंचे तो हंगामा करते हुए डॉ. उज्ज्वल को पकड़ लिया। पकड़े जाने के बाद डॉक्टर उज्ज्वल पुलिस के साथ आने से यह कहकर मना कर रहे थे कि उन्होंने शराब नहीं पी है। वे लड़खड़ा रहे थे जिससे पुलिस को संदेह हुआ। इशाकचक थाने में ब्रेथ एनालाइजर से चेक कराने पर उन्हें शराब के नशे में पाया गया। 

तिलकामांझी से पहले भी डॉक्टर नशे में पकड़े जा चुके हैं 
डॉ. उज्ज्वल से पहले भी तिलकामांझी से डॉक्टर शराब के नशे में पकड़े जा चुके हैं। पिछले साल सितंबर में सबौर स्थित एक प्राइवेट अस्पताल के डॉक्टर नीरज कुमार को शराब के नशे में पुलिस ने पकड़ा था। बाद में उन्हें जेल भेज दिया गया था। डॉक्टर नीरज पटना के रुपसपुर के रहने वाले हैं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:doctor went for checkup of prisoners locked in same jail for abusing his wife