DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भर दे झोली मेरी या मोहम्मद... पर झूमे लोग

भर दे झोली मेरी या मोहम्मद... पर झूमे लोग

भर दे झोली मेरी या मोहम्मद, लौटकर मैं न जाउंगा खाली... कव्वाली शुरू हुआ तो लोग झूमने लगे। कव्वाली चेतन चौबे की टीम ने गाया। मौका था मेहंदी प्रतियोगिता सह ईद मिलन समारोह का। कार्यक्रम तिलकामांझी में आयोजित की गई। कार्यक्रम का उद्घाटन शनिवार को प्रमंडलीय आयुक्त राजेश कुमार, विधान परिषद सदस्य डॉ. एनके यादव, फतेह हेल्प सोसायटी की सचिव शबाना दाउद ने दीप प्रज्ज्वलित कर की।

प्रमंडलीय आयुक्त ने कहा कि मेहंदी की लाली और इत्र की खुशबू का एक ही हॉल में होना संयोग है। इससे भाईचारा और सद्भाव मजबूत होती है। शबाना दाउद के प्रयास की सराहना करते हैं और प्रशासन हमेशा इनके साथ है। विधान परिषद सदस्य डॉ. एनके यादव ने कहा कि महिलाओं को मेहंदी डिजायन रोजगार से जोड़ना अपने आप में बड़ी पहल है। मेहंदी प्रतियोगिता से भागलपुर, बांका, मुंगेर, कटिहार और गोड्डा के 77 प्रतिभागियों ने भाग लिए। प्रतिभागियों ने अपने सहयोगियों को मेहंदी लगाया। उपस्थित जज नीलम अग्रवाल और अमिता कौशिक ने प्रथम स्थान भागलपुर की रिया वर्मा को दिया। दूसरा पुरस्कार भागलपुर की कशिश परवीन और तीसरा पुरस्कार तृप्ति आनंद, चौथा पुरस्कार सुमन कुमारी और पांचवां पुरस्कार कटिहार अक्षां को दिया गया। गीता देवी ने विजेताओं को ताज पहनाया। अलबेली ने प्रथम पुरस्कार दिया। ताल ग्रुप की कलाकारों ने नृत्य प्रस्तुत किया।

कव्वाल भी हुए सम्मानित

इस दौरान भोजपुरी फिल्म के कलाकार मो. जहांगीर, प्रशांत विक्रम, गोविंद अग्रवाल, अरुणिमा सिंह, नवीन कुमार, आर्यन सिंह, रवि सिंह, सुमन सोनी व जिया गोस्वामी उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Do not forget me or Mohammed, do not go down ...