Dhuri massacre Raid on arrest of shooters - धुरी हत्याकांड : सीसीटीवी में कैद शूटरों की गिरफ्तारी को छापेमारी जारी DA Image
21 नबम्बर, 2019|2:05|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

धुरी हत्याकांड : सीसीटीवी में कैद शूटरों की गिरफ्तारी को छापेमारी जारी

default image

केन्द्रीय काली पूजा समिति के महासचिव चिरंजीवी यादव उर्फ धुरी यादव हत्याकांड का एसआईटी जल्द खुलासा कर सकती है। पुलिस हत्या का गुत्थी सुलझाने का दावा कर रही है। पहचान किए गए शूटर की गिरफ्तारी के बाद पूरे मामले का खुलासा करने की बात कही जा रही है। सीसीटीवी में कैद दाढ़ी वाले और कुर्ता पहने शूटरों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम छापेमारी कर रही है।

एसआईटी के मुताबिक उर्दू बाजार मोहल्ले में करोड़ों रुपये की कीमती भूखंड को लेकर धुरी यादव का विवाद चल रहा था। समझौते के लिए प्रयास चल रहा था लेकिन धुरी यादव समझौता के लिए तैयार नहीं हो रहे थे। विरोधियों ने हत्या के लिए एक अपराधी गिरोह से संपर्क किया। बताया जाता है कि हत्या के लिए दुर्गा पूजा के बाद 15 लाख रुपये में सुपारी डील हुई थी। गिरोह से ताल्लुकात रखने वाले शूटर के हाथों धुरी यादव की हत्या करवा दी गई है। हत्याकांड की जांच कर रहे सिटी डीएसपी राजवंश सिंह ने कहा कि पूरा मामला साफ हो चुका है। संदिग्धों को पकड़कर पूछताछ के पहले पुलिस शूटरों को गिरफ्तार करने का प्रयास कर रही है। धुरी यादव के करीबी ने कमजोर कड़ी की शूटर को जानकारी दी थी। कई संदिग्ध भी घटनास्थल के आसपास धुरी की घेराबंदी करने में लगे थे। डीआईजी विकास वैभव ने भी कहा है कि एसआईटी सही दिशा में जांच कर रही है और जल्द मामले का खुलासा किया जाएगा।

मोबाइल टावर से मिला मजबूत सबूत

भागलपुर। घटना के पहले और बाद में संदिग्धों के मोबाइल नंबर की पुलिस जांच कर रही है। टावर डंप से कई संदिग्ध नंबर मिला है। इसकी जांच में पुलिस को मजबूत सबूत हाथ लगा है। एसआईटी ज्यादा से ज्यादा सबूत जुटाने का प्रयास कर रही है ताकि आरोपी बच नहीं सके। पीड़ित परिवार ने भी बातचीत में धुरी यादव के विरोधियों का नाम बता दिया है। एसआईटी उन सभी लोगों की गतिविधियों की जांच कर रही है।

जेल में बंद सूरज यादव भी है अहम कड़ी

भागलपुर। कोर्ट में सरेंडर करने वाला सूरज यादव को भी एसआईटी अम कड़ी मान रही है। रिश्ते का चचेरा भाई होने के बाद भी सूरज बड़े भाई धुरी का घोर विरोधी था। धुरी और विवादित जमीन के मालिक राज कुमार मंडल पर दबाव बनाने के लिए सूरज यादव ने अपने साथियों के साथ मिलकर राजकुमार मंडल के घर पर बम विस्फोट कर पत्नी पर जानलेवा हमले की कोशिश की थी। बमबारी के लिए जेल में साजिश रची गई थी। बम विस्फोट मामले में फरार बिरजू यादव की पुलिस खोज कर रही है।

बदले की कार्रवाई से सहमे लोग

भागलपुर। धुरी यादव की हत्या के बाद बदले की कार्रवाई हो सकती है। अनहोनी की संभावित घटना को लेकर लोग सहम गए हैं। एक-दूसरे गुट के लोग जान बचाने में लगे हैं। खून खराबे की आशंका को लेकर पीड़ित परिवार को सेफ कर सुरक्षा प्रदान कर दी गई है। घटना के बाद से परिवार के लोग सहमे हैं। दुख की घड़ी में घर पर आने-जाने वाले लोगों का सिलसिला लगा हुआ है। घटना पर रिश्तेदार और परिचित हतप्रभ हैं। घटना पर कुछ भी खुलकर बोलने से परहेज कर रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Dhuri massacre Raid on arrest of shooters