Dengue havoc in Bhagalpur: city resident four suspected patient hospitalized every day - भागलपुर में डेंगू का कहर, हर रोज चार शहरवासी हो रहे अस्पताल में भर्ती DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भागलपुर में डेंगू का कहर, हर रोज चार शहरवासी हो रहे अस्पताल में भर्ती

bhagalpur  acibhagd attack victim girl student condition worsens from lack of blood during treatment

बिहार के भागलपुर में डेंगू का कहर। हर रोज शहर के चार लोगों को डेंगू का डंक लग रहा है। इसके अलावा हर रोज छह से सात डेंगू के संदिग्ध मरीज (एनएस1एजी, आईजीजी-आईजीएम पॉजीटिव) इलाज के लिए मायागंज अस्पताल के मेडिसिन वार्ड में भर्ती हो रहे हैं।

मायागंज अस्पताल के अधीक्षक डॉ. आरसी मंडल ने बताया कि चार से 10 सितंबर के बीच मायागंज अस्पताल के डेंगू वार्ड में कुल 56 मरीज भर्ती हुए। इनमें से 41 भागलपुर जिले के हैं। यानी हर रोज चार से अधिक भागलपुर वासियों को डेंगू अपना शिकार बना रहा है। इन 41 में से 32 मरीज शहर के जीरोमाइल, बरारी, भीखनपुर, लालकोठी, नाथनगर, अलीगंज, आदमपुर, वार्ड नंबर 14, 16 व 26 समेत अन्य मोहल्ले के हैं। बाकी बचे 15 में से बांका जिले से छह, झारखंड से चार, किशनगंज, मधेपुरा से पांच मरीजों में डेंगू की पुष्टि हुई। वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में सुल्तानगंज, जगदीशपुर, पीरपैंती व नवगछिया से भी डेंगू के मरीज आ रहे हैं। 

मेडिसिन विभाग में बेड नहीं, 36 डेंगू के संदिग्ध मरीजों का चल रहा इलाज
हर रोज छह से सात डेंगू के संदिग्ध मरीज मायागंज अस्पताल में भर्ती हो रहे हैं। आलम यह है कि 100 बेड वाले मेडिसिन विभाग में 30 बेड अतिरिक्त लगाये गये हैं। बावजूद सभी बेड मरीजों से भरे हैं। शनिवार को मेडिसिन विभाग के विभिन्न यूनिट में 36 डेंगू के संदिग्ध मरीजों का इलाज चल रहा था। इसको लेकर शनिवार को मायागंज अस्पताल के अधीक्षक ने बताया कि अब डेंगू के ऐसे मरीज जिनके शरीर के किसी हिस्से से रक्तश्राव हो, तीव्र बुखार, अचानक शरीर के तापमान का गिरे या फिर तेजी से प्लेटलेट्स में कमी हो तो उन्हें ही भर्ती किया जायेगा। साथ ही अस्पताल में ऐसे डेंगू के मरीज जिन्हें बीते 24 घंटे में बुखार न हुआ हो, सामान्य बीपी हो, पेशाब ठीक से हो रहा हो, प्लेटलेट काउंट 50 हजार से अधिक हो और सांस लेने में तकलीफ न हो तो ऐसे मरीज को तत्काल अस्पताल से छुट्टी दे दी जायेगी। इस बाबत मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष को पत्र भेज दिया गया है।

बढ़ रहे डेंगू के मामले, नगर निगम बेखब
एक तरफ शहर में डेंगू बीमारी की भयावहता चरम पर है। बावजूद नगर निगम के जिम्मेदार इसको लेकर पूरी तरह से निष्क्रिय हैं। नगर निगम द्वारा की जा रही फागिंग का किसी वार्ड में पता नहीं चल रहा है तो छिड़काव कराना तो नगर निगम के अफसर कबका भूल गये हैं। इस बाबत उपनगर आयुक्त सत्येंद्र प्रसाद वर्मा ने कहा कि छिड़काव की व्यवस्था जल्द होगी।

डेंगू से महिला की मौत!
इधर डेंगू से एक महिला की मौत होने की चर्चा है। मायागंज अस्पताल में नाथनगर निवासी पिंटू की पत्नी कंचन देवी (33) को 10 सितंबर को भर्ती कराया गया। उस वक्त परिजनों ने कहा कि जांच में उसे डेंगू हुआ था। बीते 12 सितंबर को इलाज के दौरान कंचन देवी की मायागंज अस्पताल में मौत हो गयी। इसके बाद से ही महिला की लाश मायागंज अस्पताल में पड़ी थी। शनिवार को बरारी पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराने की कार्रवाई शुरू कर दी। जबकि परिजनों का महिला की मौत के बाद से कुछ भी पता नहीं चला है। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Dengue havoc in Bhagalpur: city resident four suspected patient hospitalized every day