DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नवगछिया की बेटी ने बढ़ाया मान, गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज कराया नाम

Daughter of Naugachia and child dancer saraswati Nominated for Guinness Book of World Records for In

बाल नृत्यांगना सरस्वती को अन्तर्राष्ट्रीय कुचिपुड़ी नृत्य में धूम मचाने के दो वर्षों के बाद ऑस्ट्रेलिया से सम्मान प्राप्त हुआ। ऑस्ट्रेलिया सरकार ने 26 फरवरी 2018 को आंध्र प्रदेश के मुख्य मंत्री चन्द्र बाबू नायडू को यह सम्मान भेजा जिसे सरकार द्वारा सरस्वती को प्राप्त हुआ। 25  दिसंबर 2016 को आयोजित किये गये इस अन्तर्राष्ट्रीय नृत्य समागम में सरस्वती ने शामिल होकर अपने नृत्य से लोगों का दिल जीत लिया था और अपनी जन्मजात प्रतिभा का परचम लहराया था। 

बताया जाता है कि आंध्रप्रदेश के कलाकारों ने अपनी प्रसिद्ध नृत्य शैली "कुचिपुड़ी" में समूह नृत्य प्रस्तुत कर ,फिर से गिनीज वर्ल्ड रिकार्ड बनाया है। 25 दिसंबर को विजयवाड़ा के आइजीएमसी स्टेडियम में 6,117 नर्तकों व नर्तकियों के समूह ने इस नृत्य शैली में एक साथ प्रस्तुति देकर रिकार्ड अपने नाम किया। मौके पर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्डस के निर्णायक ऋषिनाथ ने नया विश्व रिकार्ड कायम होने की घोषणा किया। उन्होंने कहा कि 6,117 डांसरों की एक साथ कुचिपुड़ी प्रस्तुति "जयमु-जयमु" ने नया गिनीज रिकार्ड बनाया है। ऋषिनाथ ने इस आशय का प्रमाण पत्र आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू को सौंपा।

राज्य सरकार के भाषा एवं संस्कृति विभाग की ओर से आयोजित पांचवें अन्तर्राष्ट्रीय कुचिपुड़ी नृत्य समागम में 12 मिनट की प्रस्तुति के दौरान यह नया विश्व रिकार्ड बना। ऑस्ट्रेलिया से सरस्वती को डेढ़ साल बाद सम्मान पत्र आन्ध्र प्रदेश सरकार को मिला। ओर आन्ध्र प्रदेश सरकार ने बाल नृत्यांगना को सौंपा ।

कौन है नृत्यांगना सरस्वती 
बाल नृत्यांगना सरस्वती बिहार राज्य के भागलपुर जिले के नवगछिया अनुमंडल अन्तर्गत जमुनियां निवासी योगाचार्य गुड्डु जी की पुत्री हैं। योगाचार्य गुड्डु जी का विवाह आन्ध्र प्रदेश में लक्ष्मी से हुआ हैं। आंन्ध्रप्रदेश में ही नृत्यांगना सरस्वती पढ़ाई के साथ - साथ नृत्य कला का अभ्यास करती हैं। नृत्यांगना सरस्वती आंन्ध्रप्रदेश के प्रकाशम जिले के श्री साई नाट्य कला भारती अंगोल से नृत्यकला सीख रही हैं। 

कहती हैं सरस्वती की माँ
नृत्यांगना सरस्वती की माँ लक्ष्मी बताती हैं कि अंतर्राष्ट्रीय कुचिपुड़ी नृत्य प्रतियोगिता में 23 राज्य के छ: हजार से अधिक नृत्यांगनाओं ने भाग लिया था। जिसमें जूनियर नृत्यांगना के रुप में सरस्वती ने प्रथम स्थान प्राप्त किया।छोटी उम्र में सरस्वती के बेहतरीन नृत्य को देखकर गिनीज के प्रतिनिधियों ने उन्हें अलग से एक प्रमाण पत्र देने की घोषणा किया था। जो एक वर्ष बाद प्राप्त हुआ ।

श्री शिव शक्ति योग पीठ से है जुड़ाव 
श्री शिव शक्ति योग पीठ नवगछिया से नृत्यांगना सरस्वती के परिवार जुड़े हुए हैं तथा उन्हें परमहंस स्वामी आगमानंद महाराज का आशीर्वाद प्राप्त है। छठी कक्षा की नृत्यांगना सरस्वती अंग एवं कोसी की धरती के अलावा पटना, दिल्ली आदि स्थानों पर कई  बार अपनी नृत्य से लोगों का मन मोह चुकी है। वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाये जाने पर सेवार्थ के मुकेश कुमार मिश्र, पंकज भारती, डॉ अनंत विक्रम, पुरुषोत्तम, विक्की, रंजन मिश्रा, रिंकू आदि ने बधाई दी एवं उज्जवल भविष्य की कामना की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Daughter of Naugachia and child dancer saraswati Nominated for Guinness Book of World Records for International Kuchipudi dance