DA Image
28 फरवरी, 2020|11:27|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डॉटा ऑपरेटरों ने सीखे गोल्डन कार्ड बनाने के गुर

default image

जिले के 2.42 लाख परिवारों के लिए गोल्डन कार्ड बनाने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने तैयारी शुरू कर दी है। विभाग के इस अभियान को जिला पंचायतीराज विभाग के डॉटा ऑपरेटर अंजाम तक पहुंचाएंगे। ये ऑपरेटर आगामी दिनों में जिले के 231 ग्राम पंचायतों में शिविर लगाकर आयुष्मान योजना के लाभुकों का आयुष्मान कार्ड बनाएंगे।

इसी कार्ड को बनाने के लिए गुरुवार को तीन बैच में पहले दिन पीरपैंती, नवगछिया, खरीक, जगदीशपुर, गोराडीह, कहलगांव व बिहपुर प्रखंड के विभिन्न ग्राम पंचायतों में गोल्डन कार्ड बनाने के लिए नियुक्त कुल 119 डॉटा ऑपरेटरों को गोल्डन कार्ड बनाने का गुर सिखाया गया। प्रशिक्षण कार्यक्रम सदर अस्पताल के सभागार में आयोजित हुआ। इस अवसर पर डीपीएम मो. फैजान अशरफी आलम ने जिले के 231 ग्राम पंचायतों में प्रखंडवाइज गोल्डन कार्ड बनाने के लिए माइक्रोप्लान बनाया जा रहा है।

प्रशिक्षण का काम जिला अनुश्रवण एवं मूल्यांकन पदाधिकारी धनंजय कुमार व एनआईसी के एडीआईओ नीलेश कुमार ने किया। शुक्रवार को विभिन्न प्रखंडों के 112 डॉटा इंट्री ऑपरेटरों को प्रशिक्षण दिया जायेगा। इस अवसर पर कॉमन सर्विस सेंटर के जिला समन्वयक राहुल कुमार व जफरूल एवं पीरपैंती, नवगछिया, खरीक, जगदीशपुर, गोराडीह, कहलगांव व बिहपुर प्रखंड के बीसीएम व प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Data operators learned the tricks of making golden cards