DA Image
26 जनवरी, 2021|2:19|IST

अगली स्टोरी

भाकपा माले ने धरना दिया

default image

28 जुलाई को मिली सिरकटी लाश किसकी थी, उसका खुलासा हो

एकता का अपहरण कर शादी करने वालों पर कार्रवाई की मांग

नवगछिया। निज संवाददाता

भाकपा माले ने गुरुवार को एक दिवसीय धरना दिया। धरना के दौरान माले ने 28 जुलाई को सिर कटी लाश मिलने के मामले का खुलासा करने की मांग की। माले नेताओं ने कहा कि सात जुलाई को एकता का अपहरण हुआ था। सिर कटी लाश मिली तो रंगरा के पूर्व थानाध्यक्ष ने आनन-फानन में उस लाश को नरहरी मंडल की बेटी का बताया जबकि उनकी बेटी पांच माह बाद लौटकर आ गयी। इससे यह बात साफ हो गयी कि थानाध्यक्ष झूठ बोल रहे थे। उन्होंने शव का डीएनए टेस्ट भी नहीं कराया और खानापूर्ति कर दी।

माले नेताओं ने मांग की कि जो सिर कटी लाश मिली थी वह किसकी है। एकता को अपहरण करने वालों और शादी के नाम पर शोषण करने वालों की अविलंब गिरफ्तारी हो, रंगरा के तत्कालीन थाना प्रभारी पर कार्रवाई हो। भाकपा माले के राज्य कमेटी सदस्य पंकज सिंह ने कहा कि राज्य में अपराधियों का मनोबल बढ़ा हुआ है। जिला सचिव विंदेश्वरी मंडल ने कहा कि एकता के अपहरणकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई तो भाकपा माले आंदोलन तेज करेगा। इंकलाबी नौजवान सभा के राज्य सह सचिव गौरीशंकर राय ने कहा कि नवगछिया में अपराधियों का राज कायम है। छोटी-छोटी बच्चियों का अपहरण कर उसे हवस के दरिंदों के हाथों बेच दिया जाता है।

धरना में भाकपा माले के जिला कमेटी सदस्य पुरुषोत्तम दास, राधे श्याम रजक, रविंद्र कुमार रवी, महेंद्र मंडल, आशुतोष कुमार यादव, अनिल मंडल, सुरेश मंडल, सुदीन प्रसाद मंडल उपस्थित थे।