DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इंजीनियरिंग कॉलेज में नये सत्र में रैगिंग रोकने को बनी संवाद कमेटी

इंजीनियरिंग कॉलेज में नए सत्र की शुरुआत से पहले ही कॉलेज प्रशासन कई तरह की तैयारियों में जुट गया है। इसमें छात्रों की काउंसिलिंग से लेकर संवाद कमेटी के गठन की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। जुलाई में नई कक्षाओं के चालू होते ही एंटी रैगिंग सेल के साथ संवाद कमेटी भी रैगिंग पर नजर रखेगी।

प्राचार्य डॉ. फखरुद्दीन अंसारी ने कहा कि कैंपस में रैगिंग सहित किसी भी तरह का आसामजिक माहौल न बने इसके लिए संवाद कमेटी लगातार छात्रों के साथ मिलकर कैंपस में काम कर रही है। इस कमेटी में हर विभाग के एचओडी (विभागाध्यक्ष) व छात्रों को रखा गया है ताकि किसी भी तरह की समस्या उत्पन्न होने पर तुरंत जानकारी मिल जाए और उसका निराकरण किया जा सके।

अभिभावकों के लिखित आवेदन पर ही क्लास करने दिया जाएगा : कमेटी के सदस्य हॉस्टल पर भी नजर रखेंगे। यही नहीं जिन विभाग के छात्रों को अमार्यादित कार्य करते हुए पाया जाएगा तो उसके लिए कमेटी के सदस्यों से भी पूछा जाएगा। ऐसे छात्रों के अभिभावकों को बुलाकर उन्हें भी स्थिति से अवगत कराया जाएगा। अभिभावकों के लिखित आवेदन पर ही छात्रों को क्लास करने दिया जाएगा।

छात्रों को आचार संहिता मार्गदर्शिका दिया जाएगा : पिछले साल 23 और 25 अगस्त को हुई मारपीट की घटना को देखते हुए इस बार जून से ही कॉलेज कैंपस और क्लास में छात्रों को आचार संहिता मार्गदर्शिका दिया जाएगा। क्लास में उन्हें इसकी जानकारी दी जाएगी। साथ ही ऑफिस से लेकर हॉस्टल व क्लास रूम के बाहर भी इसको लगाया जाएगा। प्राचार्य ने कहा कि कैंपस का माहौल काफी बदला है इसलिए अब हंगामे की बात नहीं होगी। जुलाई में नामांकित 315 छात्रों को भी आचार संहिता मार्गदर्शिका दिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:committee to prevent ragging in new session at Engineering College