DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चौकीदार की बहाली के नाम पर 51 हजार ठगने के आरोप में तत्कालीन एसडीओ पर केस

फारबिसगंज के तत्कालीन एसडीओ और वर्तमान में पटना में एसडीएम पद पर तैनात अनिल कुमार और पेशकार मनोज वर्मा पर एससी/एसटी थाना में ठगी का केस दर्ज किया गया है।

दर्ज एफआईआर के अनुसार भरगामा प्रखंड की रघुनाथपुर दक्षिण पंचायत के राजीव कुमार पासवान ने दादा की मौत के बाद अनुकंपा के आधार पर नौकरी के लिये आवेदन किया। राजीव के पिता उपेंद्र पासवान दिव्यांग हैं। मामला पटना हाईकोर्ट तक पहुंचा। कोर्ट ने एसडीओ को तीन माह के अंदर इस मामले के निष्पादन का आदेश दिया। 

इसके बाद राजीव ने फारबिसगंज के तत्कालीन एसडीओ अनिल कुमार से हाईकोर्ट के आदेश के आलोक में गुहार लगायी।
 
रुपये लेने के बाद भी दूसरे को किया बहाल
राजीव का आरोप है कि चौकीदार में बहाली के लिये अनिल कुमार ने खर्चा पानी के नाम पर रुपये की मांग की। उसने 20 हजार रुपये पत्नी के खाते से निकाले और 31 हजार रुपये जमीन को सुदभरना रखकर कुल 51 हजार रुपये एसडीओ को उनके सरकारी आवास पर 12 जून को दिये। उस वक्त अनिल कुमार और उनके पेशकार ने कहा था कि नौकरी हो जायेगी। लेकिन बाद में किसी और को बहाल कर दिया गया। राजीव का कहना है कि बाद में जब रुपये वापस मांगने गया तो अपने पद का धौंस दिखाकर उसे जाति सूचक गाली गलौजकर करके भगा दिया गया।

पुलिस ने नहीं दर्ज की एफआईआर तो गया कोर्ट
राजीव की जब पुलिस ने कोई सुनवाई नहीं की तो वह जुलाई माह में न्यायालय की शरण में आ गया। सुनवाई के बाद न्यायालय ने केस दर्ज करने का आदेश दिया। इसके बाद भी पुलिस ने कोर्ट की अनदेखी की। कारण कि एसडीओ अनिल कुमार तब तक फारबिसगंज में पोस्टेड थे। 22 अक्टूबर को उनके तबादले की अधिसूचना जारी हुई। इसके बाद वे वरीय उपसमाहर्ता बनकर पटना चले गये। तब जाकर दिसंबर माह की 22 तारीख को पुलिस ने केस दर्ज किया।

अभी तक नहीं हुआ है सुपरविजन
एससी/एसटी थानाध्यक्ष राम अयोध्या राम का कहना है कि कोर्ट के आदेश पर केस संख्या 140/18 दर्ज हुआ है। अभी इस केस में सुपरवीजन नहीं हुआ है। सुपरविजन रिपोर्ट के आधार पर ही आगे की कार्रवाई होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Case against SDO for cheating of 51 thousand in name of job of watchman