Burari station at the top on prohibition of liquour - शराबबंदी में बरारी थाना आगे तो तातारपुर सबसे पीछे, गिरे सकती है गाज DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शराबबंदी में बरारी थाना आगे तो तातारपुर सबसे पीछे, गिरे सकती है गाज

पिछले दिनों पुलिस मालखाना में रखे करीब 9 लाख लीटर से अधिक शराब के चूहों द्वारा गटक जाने की खबरे काफी चर्चा में रही थी। इसी आधार पर बिहार पुलिस मुख्यालय ने मामले की जांच के आदेश दिए थे। आदेशों का पालन करते हुए पुलिस के वरीय अधिकारियों ने भी अपने जिलों में थानेदारों को शराबबंदी से जुड़े मामलों की विस्तृत रिपोर्ट तैयार करने को कहा है। इस बाबत कई थानेदारों ने रिपोर्ट तैयार कर ली है। कुछ थानेदार ऐसे भी हैं जिन्हें अभी तक फॉर्मेट तक प्राप्त नहीं हुआ है। उनकी रिपोर्ट नहीं बनी है। थानों द्वारा सौंपी गई अभी तक की रिपोर्ट में बरारी थाना में सर्वाधिक मात्रा में शराब जब्त किए गए हैं । तातारपुर थाना शराब जब्ती के मामले में सबसे पीछे है। हबीबपुर थाना में शराबबंदी मामले में गिरफ्तार लोगों की संख्या अधिक है। सबौर, मोजाहिदपुर, जीरो माइल, बबरगंज और तिलकामांझी थानों में शराब जब्ती की सूची को तैयार करने की प्रक्रिया जारी है। सूत्रों के अनुसार जिन थानों में शराब जब्ती और इससे जुड़े मामलों की संख्या कम होगी वहां के थानेदार से इसका कारण पूछा जाएगा। कारण स्पष्ट नहीं होने पर मुख्यालय द्वारा ऐसे थानेदारों पर गाज भी गिर सकती है। वहीं दूसरी तरफ शराब मामलों में जिन थानों में बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है ऐसे थानेदारों से भी जवाब तलब किया जा सकता है।गौरतलब है कि नीतीश सरकार ने विगत वर्ष 2016 के अप्रैल महीने से प्रदेश में पूर्ण शराबबंदी लागू की थी और इसे लागू करने के लिए पुलिस एवं मद्य निषेध एवं उत्पाद विभाग द्वारा अपने-अपने स्तर से विशेष अभियान चलाया था।----------------------थाना केस गिरफ्तारी जब्ती (देशी-विदेशी) लीटर मेंबरारी 24 37 596हबीबपुर 11 21 308विश्वविद्यालय 3 6 81आदमपुर 6 5 42 कोतवाली 10 15 29तातारपुर 3 6 13के सघन अभियान छेड़ा था। जिसके बाद राज्य में जब्त किए गए

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Burari station at the top on prohibition of liquour