DA Image
23 जनवरी, 2020|10:45|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिस केन्द्र में बैरक की भारी कमी, भीषण ठंड में यहां बरामदे पर कट रही पुलिसकर्मियों की रात

bhagalpur news  mostly policemen passing night in porch in severe coldnight due to lack of barrack i

कड़ाके की ठंड में भागलपुर पुलिस केंद्र में रहने वाले अधिकतर पुलिसकर्मियों की बरामदे पर रात कट रही है। ड्यूटी के बाद पुलिसकर्मियों को चैन से सोने के लिए जगह नहीं है। ठंड के कारण पुलिसकर्मी लगातार बीमार पड़ रहे हैं। अपने खर्च पर बरामदे पर तिरपाल व पॉलिथीन खरीदकर टांग रहे हैं।

छह सौ पुलिसकर्मियों के बैरक निर्माण का प्रस्ताव मुख्यालय में अटका है। पुलिस केन्द्र में करीब चार सौ पुलिसकर्मी बरामदा या मंदिर में शरण लिए हुए हैं। इन्हें देखने वाला कोई नहीं है।

भागलपुर जिला बल में करीब 1400 पुलिसकर्मी एवं हवलदार तैनात हैं। आधे पुलिसकर्मी थाने की ड्यूटी पर लगाए गए हैं, जबकि आधे पुलिसकर्मी पुलिस केन्द्र में रहते हैं। गंगा, जमुना और गोदावरी बैरक में करीब तीन सौ पुलिसकर्मी रहते हैं। महिला पुलिसकर्मियों के लिए चार मंजिला बैरक आवंटित किया गया है। पुलिसकर्मियों ने कहा कि गर्मी में किसी तरह बरामदा पर रात कट जाती है लेकिन ठंड और बरसात में मुश्किल होता है। दर्जन भर से अधिक पुलिसकर्मी ठंड लगने से बीमार पड़ चुके हैं। पुलिस सभा में बैरक निर्माण की मांग रखी गई है। एसएसपी ने पुलिस मुख्यालय को प्रस्ताव भेज दिया है लेकिन प्रस्ताव अधर में लटका है।

पुलिस एसोसिएशन ने उठाई आवाज
पुलिस मेंस एसोसिएशन के अध्यक्ष सोमेश कुमार ने कहा कि पुलिसकर्मियों की संख्या लगातार बढ़ रही है लेकिन उसके हिसाब से बैरक की व्यवस्था नहीं की जा रही है। चार सौ पुलिसकर्मी और होमगार्ड जवान बरामदे पर रह रहे हैं। बहुत बुरा हाल है। भीषण ठंड में अलाव की व्यवस्था नहीं है। एसएसपी की सभा में कई बार बैरक निर्माण की बात रखी गई है। तत्काल 50 तिरपाल की मांग की गई है। ठंड से परेशान पुलिसकर्मियों के लिए अलाव की भी व्यवस्था नहीं है। पुलिस मुख्यालय को इसके लिए पत्र लिखा गया है। काफी पुलिसकर्मी किराये के मकान में परिवार लेकर रह रहे हैं। 

बरामदे में रहते हैं जीआरपी पुलिसकर्मी
जीआरपी के पुलिसकर्मियों के लिए रहने की जगह नहीं है। जितनी जगह है उतने में तमाम पुलिसकर्मी रह नहीं सकते। इसलिए करीब 15 पुलिसकर्मियों ने स्टेशन के पहले तल्ले पर बरामदे पर ही अपनी बेड लगा दी है। ठंड में वहां हवा लगने से पुलिसकर्मी ठिठुरते रहते हैं। जीआरपी थानाध्यक्ष अरविंद कुमार बताते हैं कि नए बैरक के लिए योजना बनी है। अभी बनना शुरू नहीं हुआ है। महिला पुलिसकर्मियों के लिए इशाकचक थाना के पास बैरक बना दिया गया है। 

छह सौ पुलिसकर्मियों के लिए दो बैरक के निर्माण का प्रस्ताव एसएसपी के माध्यम से मुख्यालय को भेजा गया है लेकिन प्रस्ताव को मंजूरी नहीं मिली है। बैरक निर्माण के लिए कोई राशि नहीं है। - मुकेश कुमार, कार्यपालक अभियंता, पुलिस भवन निर्माण निगम भागलपुर।  

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Bhagalpur news: Mostly policemen passing Night in porch in severe cold night due to lack of Barrack in police center of bhagalpur