अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शाहकुंड पीएचसी से दवा और सूई नहीं मिलने पर हंगामा

शाहकुंड पीएचसी से दवा और सूई नहीं मिलने पर हंगामा

शाहकुंड पीएचसी में बंध्याकरण कराने वाली महिलाओं को शुक्रवार को अस्पताल से दवा नहीं मिलने पर उनके परिजनों ने हंगामा किया। परिजन अस्पताल कर्मियों से उलझने पर उतारू थे। गुरुवार को 28 महिलाओं को बंध्याकरण ऑपरेशन किया गया था। फिर भी उन्हें अस्पताल से न तो दवा दी गयी और न सूई। बाहर से 12 से 15 सौ रुपये में महिलाओं के परिजनों द्वारा दवा एवं सूई की खरीद की गयी।

यही नहीं सुबह चार बजे ही इन बंध्याकरण करानेवाली महिलाओं को सफाई कर्मियों द्वारा अस्पताल से बाहर कर दिया गया। इन्हें मजबूरन परिसर में पेड़ के पास बने चबूतरे पर समय गुजारना पड़ा। इन महिलाओं से स्ट्रेचरवालों द्वारा 20-20 रूपये वसूल किया गया। दवा व सूई नहीं मिलने के सवाल पर प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने स्वास्थ्य प्रबंधक को जिम्मेवार ठहराते हुए कहा कि इसकी व्यवस्था उन्हें करनी है।

प्रभारी ने कहा कि उनके द्वारा 24 घंटा ड्यूटी करने के बाद किसी अन्य डॉक्टर द्वारा कोई सहयोग नहीं किया जाता है। यहां तक कि स्वास्थ्य प्रबंधक भी रात में अस्पताल में नहीं रहते हैं। इस कारण अस्पताल की व्यवस्था खराब हो रही है। ऑपरेशन से पहले दवा एवं सूई का बंदोबस्त करना स्वास्थ्य प्रबंधक की जिम्मेवारी है।

उधर, स्वास्थ्य प्रबंधक मधुकांत झा ने बताया कि दवा एवं सूई नहीं होने की जानकारी उन्हें नहीं दी गयी थी। जानकारी मिलने पर शुक्रवार को दवा व सूई खरीदकर डेढ़ बजे तक दवा उपलब्ध करा दी गयी थी। उन्होंने सफाईकर्मी द्वारा सुबह चार बजे अस्पताल से बंध्याकरण करानेवाली महिलाओं को बाहर किये जाने के सवाल पर कहा कि यह गलत हुआ है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bhagalpur : medicine and needle from Shahkund PHC