DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलवामा अटैक पर उबला सोशल मीडिया, आह्वान पर शहीदों के सम्मान में बंद रहे बाजार

bhagalpur market closed against pulwama terror attack and favour of shaheed jawans

1 / 2पुलवामा अटैक के खिलाफ और शहीदों के सम्मान में सोशल मीडिया के आह्वान पर भागलपुर बाजार बंद।

bhagalpur market closed against pulwama terror attack and favour of shaheed jawans

2 / 2पुलवामा में शहीद हुए सीआरपीएफ जवानों के सम्मान में भागलपुर और आसपास का बाजार शनिवार को स्वत: बंद रहा।

PreviousNext

पुलवामा में शहीद हुए सीआरपीएफ जवानों के सम्मान में भागलपुर और आसपास का बाजार शनिवार को स्वत: बंद रहा। जबकि स्थानीय स्तर पर किसी दल या संगठन की ओर से बंद का आह्वान नहीं किया गया था।
 
दरअसल सोशल मीडिया के इन दिनों पुलवामा अटैक के खिलाफ उबाल आया हुआ है। लोग सोशल मीडिया के जरिए शहीदों को श्रद्धांजलि और पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। इसी के मद्देनजर सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफॉर्म के जरिये शुक्रवार को शहीदों के सम्मान में बाजार बंद करने की अपील की गई थी। इसी आधार पर बाजार में दुकानें बंद रहीं। 

नाथनगर, तातारपुर, मुख्य बाजार, सोनापट्टी, खलीफाबाग सहित लगभग सभी बाजारों में बंद का खासा असर रहा। इस दौरान चाय दुकान, पेट्रोल पंप सहित अन्य छोटी-बड़ी दुकानें बंद रहीं। इस दौरान बैंकों की एटीएम के भी शटर बंद रहे। 

खलीफाबाग में दुकान चलाने वाले परवेज खान ने कहा कि हमारी रक्षा के लिए सैनिकों ने बलिदान दिया है। एक दिन के लिए अपने प्रतिष्ठान को बंद रखकर उन्हें सम्मान देने का प्रयास किया गया है। वहीं तनवीर आलम ने कहा कि देश हमारे लिए सर्वोपरि है। सुरक्षा बल हमारी रक्षा के लिए शहीद हुए हैं, उनका सम्मान हर भारतीय का फर्ज है। 

नसर खान ने कहा कि पुलवामा में सुरक्षा बलों पर हमले से पूरे राष्ट्र में आक्रोश है। सैनिकों के सम्मान के लिए हमलोगों ने स्वयं बंद किया है। शहबाज ने कहा कि आज के समय में राष्ट्र की सुरक्षा सबसे ज्यादा जरूरी है। राष्ट्र की सुरक्षा के लिए सैनिकों की रक्षा जरूरी है। हमले में शदीद सुरक्षाबलों के परिवार के हम सभी शोक में हैं। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:bhagalpur market closed against pulwama terror attack and favour of shaheed jawans