DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्रों को हॉस्टल छोड़ने का आदेश

भागलपुर इंजीनियरिंग कॉलेज में बुधवार की देर रात हंगामे और प्राचार्य आवास पर तोड़फोड़ करने के मामले में कॉलेज प्रशासन ने छात्र-छात्राओं को हॉस्टल खाली करने का आदेश दिया है। गुरुवार को जारी आदेश में प्राचार्य डा. निर्मल कुमार ने अंतिम वर्ष के छात्रों को छोड़कर शेष सभी छात्र-छात्राओं को कैंपस स्थित हॉस्टल खाली करने का आदेश दिया है। प्राचार्य ने डीआईजी विकास वैभव को पत्र लिखकर कैंपस में सुरक्षा व्यवस्था की मांग की है। प्राचार्य ने बुधवार की देर रात बिजली आपूर्ति नहीं होने पर छात्राओं द्वारा हंगामा किए जाने के बाद छात्रों द्वारा भी हंगामा कर माहौल अशांत करने और अपने आवास पर तोड़फोड़ किए जाने को लेकर छात्रावासों को खाली कर देने को कहा है। अपने आदेश में प्राचार्य ने एक जून से 30 जून तक गर्मी की छुट्टियों में छात्र-छात्राओं को हॉस्टल खाली कर चले जाने को कहा है। गर्मी की छुट्टी के बाद छूटी कक्षाओं का सामंजन करने की भी बात प्राचार्य ने कही है। छात्रावास खाली कराने की एक वजह बिजली की आपूर्ति नहीं होना भी है। प्राचार्य ने बताया कि ऐसे में छात्र हंगामा करते हैं। इसलिए भी हॉस्टल खाली कराया जा रहा है। हालांकि गुरुवार को कॉलेज में सात से आठ घंटे बिजली की आपूर्ति हुई। तीन छात्रों पर दर्ज कराई प्राथमिकी प्राचार्य ने तोड़फोड़ के आरोप में तीन छात्रों पर प्राथमिकी दर्ज कराई है। जिन छात्रों पर प्राथमिकी दर्ज कराई गई है, उनमें जमुई के रहने वाले उज्ज्वल राज, पूर्वी चंपारण के रहने वाले मो. नासिर अख्तर और लखीसराय के रहने वाले छात्र राकेश भारती के नाम शामिल हैं। प्राचार्य ने पुलिस को इन छात्रों के व्हाट्सअप चैट का स्क्रीन शॉट भी पुलिस को सबूत के तौर पर भेजा है जिसमें ये छात्र बुधवार की देर रात हंगामा करने के लिए एक-दूसरे व अन्य छात्रों को उकसाते दिख रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:bce studentys ordered to leave hostels