Araria and Katihar dump to flood, alert in Katihar city - तस्वीरों में देखिए बाढ़ से अररिया और कटिहार की तबाही, अलर्ट जारी 1 DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तस्वीरों में देखिए बाढ़ से अररिया और कटिहार की तबाही, अलर्ट जारी

कोसी महानंदा समेत अन्य छोटी-छोटी नदियां कहर बरपा रही
कोसी महानंदा समेत अन्य छोटी-छोटी नदियां कहर बरपा रही

कोसी और सीमांचल इलाके में बुधवार को कोसी महानंदा समेत अन्य छोटी-छोटी नदियां कहर बरपा रही हैं। बाढ़ से कटिहार और अररिया पूरी तरह तबाह हो गया है। पिछले तीन दिनों से पूरा जिला पानी में डूबा हुआ है। सेना, एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें इन दोनों जगहों पर राहत और बचाव कार्य में लगी हुई हैं लेकिन बड़ी संख्या में लोग अभी पानी में फंसे हुए हैं।

बाढ़ के पानी में फंसे लोग त्राहिमाम कर रहे हैं
बाढ़ के पानी में फंसे लोग त्राहिमाम कर रहे हैं

अररिया शहर से हालांकि पानी धीरे-धीरे निकलने लगा है लेकिन प्रखंड क्षेत्रों में पानी भरा हुआ ही है। लगभग सारी सड़कें और बिजली व्यवस्था ध्वस्त हो गयी हैं। बाढ़ के पानी में फंसे लोग त्राहिमाम कर रहे हैं। राहत सामग्री भी उन तक सही तरीके से नहीं पहुंच पा रही है। बाढ़ के पानी में डूबकर मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है। पिछले दो दिनों में मौतों का यह आंकड़ा बढ़कर 43 पहुंच गया है।
 

सड़कें बाढ़ के पानी में टूट जाने से आवागमन बाधित
सड़कें बाढ़ के पानी में टूट जाने से आवागमन बाधित

दो दिनों में मौतों का यह आंकड़ा बढ़कर 43 पहुंच गया है। इसमें सुपौल में 7, सहरसा में 4, मधेपुरा में 2, किशनगंज में 11, कटिहार में 12 और अररिया में 7 लोगों की मौत हो गई। सुपौल जिले के सर्वाधिक बाढ़ प्रभावित प्रखंड निर्मली और मरौना में 2 से 3 फीट कोसी का पानी घटने की सूचना है। एनएच 327ई सहित कई ग्रामीण सड़कें बाढ़ के पानी में टूट जाने से आवागमन बाधित है। अबतक जिले में डूबकर मरने वालों की संख्या 7 हो गयी है।

मधेपुरा के आलमनगर संपूर्ण और चौसा प्रखंड सर्वाधिक बाढ़ प्रभावित
मधेपुरा के आलमनगर संपूर्ण और चौसा प्रखंड सर्वाधिक बाढ़ प्रभावित

मधेपुरा के आलमनगर संपूर्ण और चौसा प्रखंड सर्वाधिक बाढ़ प्रभावित हैं। नाव की यहां पूरी व्यवस्था नहीं रहने से लोग गुस्से में हैं। राहत वितरण हर जगह समुचित रूप से नहीं हो रहा है।

पूर्णिया के सर्वाधिक बाढ़ प्रभावित प्रखंड डगरुआ और अमौर प्रखंड में राहत सामग्री के लिए हाहाकार मचा हुआ है। इन जगहों पर कई दिनों से बिजली गुल है। अररिया में जगह-जगह लोग जल निकासी और राहत वितरण के लिए जाम प्रदर्शन करने लगे हैं। जाम करने वालों पर एक जगह पुलिस ने लाठी भी भांजी है।
 

कटिहार शहर में पानी घुसने की आशंका पर अलर्ट जारी
कटिहार शहर में पानी घुसने की आशंका पर अलर्ट जारी

बड़ी संख्या में अररिया और फारबिसगंज के बड़ी संख्या में पीड़ित लोग हाईवे और अन्य ऊंची जगहों पर शरण लिये हुए हैं। कटिहार शहर को डीएम ने अलर्ट कर दिया है। यहां शहर के निचले इलाके में महानंदा का पानी पहले से फैला हुआ है और कारी कोसी नदी का पानी भी खतरे के निशान पर पहुंच गया है।

किसी भी समय शहर में पानी घुसने की आशंका पर अलर्ट जारी किया गया है। जिले के लगभग सभी प्रखंड पहले से पानी में डूबे हुए हैं। कटिहार के मनिया स्टेशन के पास पटरी धस जाने ने करीब 12 वीआईपी ट्रेनें रद्द कर दी गयी हैं। हाटे बाजारे ट्रेन भी कटिहार में मेन लाइन पर खड़ी हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Araria and Katihar dump to flood, alert in Katihar city