DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इस रूट पर चलने वाली गरीब रथ एक्सप्रेस बर्निंग ट्रेन होने से बाल-बाल बची

garib rath express at saharsa railway station

अमृतसर से सहरसा आने वाली गरीब रथ एक्सप्रेस रविवार को बर्निंग ट्रेन होने से बाल-बाल बच गयी। कोपरिया-सिमरी बख्तियारपुर के बीच इस पूर्णत: एसी ट्रेन को वैक्यूम कर असामाजिक तत्वों ने ब्रेक सिस्टम के आइसोलेटिंग हैंडिल को बंद कर दिया।

इससे एक कोच के पहिया के पास के ब्रेक ब्लॉक से धुआं निकलने लगा। धुआं निकलता देख कोच नंबर जी- 9 और 10 के यात्रियों के बीच अफरातफरी मच गई। यात्री दहशत में आ गए। बर्थ को छोड़कर खिड़की और कोच के दरवाजे से बाहर देखने लगे। वैक्यूम के कारण ट्रेन की गति कम रहने से कई यात्री कोच से कूदकर बाहर निकले और दोबारा वैक्यूम किया। इसके बाद ट्रेन रुक गई और चालक दयाशंकर राय, सहायक लोको पायलट और गार्ड ने पहुंचकर आग बुझा कर ब्रेक ब्लॉक को दुरुस्त किया। बंद आइसोलेटिंग हैंडिल को खोल कर ट्रेन का परिचालन शुरू किया। तब जाकर यात्रियों ने राहत की सांस ली। 

इस कारण कोपरिया स्टेशन से दो किमी आगे ट्रेन करीब 15 मिनट तक रुकी रही। ट्रेन को लेकर सहरसा पहुंचे चालक ने बताया कि असामाजिक तत्वों ने वैक्यूम करते आइसोलेटिंग हैंडिल को बंद कर दिया था। इस कारण 20 कोच वाली ट्रेन की 98964 नंबर की एक बोगी परिचालन के दौरान फ्री नहीं हो रही थी। उन्होंने बताया कि ब्रेक ब्लॉक को दुरुस्त कर ट्रेन का परिचालन शुरू किया गया।

मुख्य क्रु नियंत्रक अशोक कुमार के. ने कहा कि धुआं के निकलते ही उसे काबू में कर लिया गया। बता दें कि यही ट्रेन सहरसा से अमृतसर के लिए निर्धारित समय दोपहर तीन बजे खुली। सहरसा-अमृतसर गरीब रथ एक्सप्रेस(12203/04) सप्ताह में तीन दिन दोनों तरफ से चलती है। यह देश की पहली गरीब रथ ट्रेन है।
सहरसा स्टेशन पर खड़ी गरीब रथ एक्सप्रेस।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Amritsar to Saharsa Garib Rath Express saved from burning train