DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हड़ताल के पहले दिन बैंकों में कामकाज ठप, 550 करोड़ का टर्नओवर प्रभावित

हड़ताल के पहले दिन बैंकों में कामकाज ठप, 550 करोड़ का टर्नओवर प्रभावित

केंद्र सरकार द्वारा बैंककर्मियों को दिये जाने वाले वेतन में दो प्रतिशत वृद्धि किये जाने के प्रस्ताव के खिलाफ बुधवार से बैंककर्मी हड़ताल पर चले गये। यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन की अगुवाई में जिले के नौ संगठन हड़ताल में शामिल हुए। इस दौरान सभी राष्ट्रीयकृत बैंकों में कामकाज पूरी तरह से ठप रहने के कारण करीब 550 करोड़ रुपये का कारोबार प्रभावित रहा।

हड़तालियों ने पांच बैंकों के कार्यालय पर प्रदर्शन किया तो तीन निजी बैंकों के शटर डाउन करा दिया। इसके अलावा कैश से भरे तीन दर्जन एटीएम का शटर भी हड़तालियों ने डाउन कराया। इस हड़ताल का असर यह रहा कि लोग दोपहर बाद से कैश के लिए एटीएम-एटीएम दौड़ लगाते रहे। शाम छह बजे तक शहर के 60 प्रतिशत एटीएम ड्राई हो चुके थे। हड़तालियों की मानें तो गुरुवार को उनका हड़ताल और उग्र होगा।

हड़ताल के क्रम में सुबह नौ बजे से शहर के पांच बैंक कार्यालय पर धरना-प्रदर्शन शुरू हुआ। सुबह नौ बजे शुरू हुए धरना-प्रदर्शन के क्रम में एसबीआई अधिकारी संघ के अध्यक्ष प्रदीप रजक, महासचिव अरुण कुमार सिंह की अगुवाई में एसबीआई मेन ब्रांच, एसबीआई कर्मचारी संघ के उप महासचिव जयेश कुमार झा की अगुवाई बैंक ऑफ इंडिया के आंचलिक कार्यालय, अक्षय भगत की अगुवाई में केनरा बैंक, एआईबीओसी के जिला सचिव प्रशांत कुमार मिश्रा, ओपी तिवारी, रवि, पंकज की अगुवाई में खलीफाबाग स्थित बैंक ऑफ इंडिया, यूएफबीयू के जिला संयोजक अरविंद कुमार रामा की अगुवाई में एक्सिस बैंक के सामने धरना-प्रदर्शन किया गया। इस अवसर पर हड़तालियों ने कहा कि यह तो अभी शुरुआत है, गुरुवार को आंदोलन और उग्र होगा।

निजी बैंकों के कामकाज पर भी असर

हड़तालियों ने बुधवार की सुबह एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी बैंक व इंडसइंड बैंक को बंद कराया। हालांकि इन बैंकों में बैक डोर से दोपहर बाद कामकाज हुआ। एचडीएफसी बैंक में कार्यरत एक कर्मचारी ने बताया कि वे लोग सुबह साढ़े आठ बजे ही बैंक पहुंचकर अपना अटेंडेंस बना दिया। जैसे ही हड़ताली आये, कामकाज ठप कर दिया। फिर दोपहर बाद एक बजे से कामकाज शटर डाउन कर हुआ।

कैश के लिए भटकते रहे लोग, नहीं मिली राहत

छोटी खंजरपुर स्थित एसबीआई मुख्य ब्रांच के समीप बैंक का इ-कार्नर में लगे एटीएम बंद रहे। यहां पर कैश लेने के लिए पहुंचे हनुमाननगर निवासी देवेंद्र सिंह ने बताया कि वे घंटाघर, तिलकामांझी स्थित एटीएम पर कैश नहीं निकाल पाये तो वे उम्मीद के साथ यहां पर आये थे। लेकिन यहां पर हड़तालियों ने ही एटीएम को बंद करा दिया है। यहीं पर एसएम कॉलेज में बीए द्वितीय वर्ष की छात्रा शोभना घोष ने बताया कि उसे कोचिंग का पेमेंट करने के लिए 1200 रुपये की तत्काल जरूरत थी। लेकिन चार एटीएम जाने के बावजूद उसे कैश निकालने में सफलता नहीं मिली। उसने कहा कि अब वह रात में कैश निकालने का प्रयास करेगी।

कोट

जिले के कुल 234 ब्रांच में हड़ताल का पूरा असर रहा। कामकाज ठप होने से बैंकों में करीब 550 करोड़ का टर्नओवर प्रभावित रहा। इसमें जमा-निकासी, एटीएम से जमा-निकासी, चेक क्लीयरेंस, ऋण, फिक्स डिपॉजिट आदि के आंकड़े शामिल हैं।

चंद्रशेखर साह, एलडीएम, भागलपुर

हड़ताल के दूसरे दिन आंदोलन और उग्र होगा। गुरुवार को किसी भी एटीएम से रुपये की निकासी नहीं होने दी जायेगी। जरूरत पड़ी तो एटीएम के शटर पर ताला लगेगा।

प्रशांत कुमार मिश्रा, जिला सचिव, एआईबीओसी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:550 crore business affected by strike of bank employees