ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार भभुआअंतिम पायदान पर बैठे व्यक्ति को मिले योजनाओं का लाभ

अंतिम पायदान पर बैठे व्यक्ति को मिले योजनाओं का लाभ

कैमूर के विकास के लिए सभी समुदाय एकजुट होकर करें प्रयास कैमूर के विकास के लिए सभी समुदाय एकजुट होकर करें...

अंतिम पायदान पर बैठे व्यक्ति को मिले योजनाओं का लाभ
हिन्दुस्तान टीम,भभुआMon, 26 Feb 2024 08:45 PM
ऐप पर पढ़ें

कैमूर के विकास के लिए सभी समुदाय एकजुट होकर करें प्रयास
पीरामल फाउंडेशन और मीडिया कर्मियों की कार्यशाला आयोजित

भभुआ ,हिन्दुस्तान प्रतिनिधि। पत्रकारों की ऊर्जा काफी महत्वपूर्ण है। अगर वह इस ऊर्जा का सही उपयोग करेंगे तो निश्चित रूप से जिले, राज्य और देश के विकास में और सुधार होगा। पीरामल फाउंडेशन नीति आयोग के निर्देश पर पूरे देश में कार्य रही है। हमारा प्रयास है कि अंतिम पायदान पर बैठे व्यक्ति तक सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचे। यह बातें सोमवार को जिला लीड आकांक्षा कुमार ने मीडिया कार्यशाला में कही। उन्होंने बताया कि देश के साथ-साथ बिहार के हर जिले में सर्वांगीण विकास के लिए पीरामल फाउंडेशन छह चैनल को लेकर एक ऐसा प्लेटफार्म बना रही है, जो सब मिलकर जिले का विकास करेंगे।

उन्होंने कहा कि इस चैनल में युवा, मीडिया, एनजीओ, एसएचजी, पीआरआई, धार्मिक गुरु आदि शामिल होंगे। जो जिले में अंतिम पायदान पर बैठे लोगों की समस्याओं को सुनेंगे और उसे सरकार तक पहुंचाएंगे। सीओई राज्य प्रतिनिधि शैलेन्द्र सिंह ने बताया कि यह संस्था वर्ष 2008 से पूरे भारत में कार्य कर रही है। बिहार में स्वास्थ्य, शिक्षा, पोषण आदि पर कार्य चल रहा है। बिहार में जितनी भी सरकारी योजनाएं चल रही हैं, उनमें अधिकतर योजनाओं का लाभ अंतिम पायदान पर बैठे लोगों तक नहीं पहुंच पा रही है। जरुरत पड़ने पर पत्रकारों को किसी बड़े संस्था से प्रशिक्षण की व्यवस्था की जाएगी।

उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि हर महीने पत्रकारों को जिला प्रशासन की ओर से सम्मानित किया जा सके। ब्लॉक स्तर पर भी बीडीओ व सीओ द्वारा सम्मानित किए जाने का प्रयास किया जा रहा है। मौके पर फाउंडेशन के प्रोग्राम लीड राकेश राय, अमलेश कुमार, कृष्णकांत तिवारी आदि कई अधिकारी उपस्थति थे।

फोटो- 26 फरवरी भभुआ- 13

कैप्शन- पीरामल फाउंडेशन द्वारा सोमवार को आयोजित मीडिया कार्यशाला में भाग लेते लोग।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें