ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार भभुआसमरस समाज की स्थापना के लिए कथा जरूरी (पेज तीन)

समरस समाज की स्थापना के लिए कथा जरूरी (पेज तीन)

चैनपुर। भगवान बुद्ध के बताएं मार्गों पर चलने से जीवों का कायाकल्प होता है। यह बातें बैरागी पंथ से जुड़े महात्मा संजय ने गुरुवार की देर शाम दुबे के सरैया में आयोजित राम कथा के दौरान कहीं। उन्होंने कहा...

समरस समाज की स्थापना के लिए कथा जरूरी (पेज तीन)
हिन्दुस्तान टीम,भभुआFri, 24 May 2024 09:00 PM
ऐप पर पढ़ें

चैनपुर। भगवान बुद्ध के बताएं मार्गों पर चलने से जीवों का कायाकल्प होता है। यह बातें बैरागी पंथ से जुड़े महात्मा संजय ने गुरुवार की देर शाम दुबे के सरैया में आयोजित राम कथा के दौरान कहीं। उन्होंने कहा कि सामाजिक विसंगतियों को दूर करने के लिए कथा की महत्व बहुत अधिक है। भगवान बुद्ध ने भी कथा कही थी। राम कथा, बुद्ध कथा, कृष्ण कथा आदि का सिर्फ एक ही मकसद है कि समाज में नई क्रांति का संचार करते हुए समरस समाज की स्थापना हो। आयोजक धनराज सिंह कुशवाहा द्वारा प्रतिवर्ष कथा आयोजन किया जाता है। मनुष्य के जीवन का एक मूल मंत्र है, जिसे सभी को अपना लेना चाहिए। कथा में हाटा, खरिगांवा, चैनपुर, बढ़ौना, रमौली, मेढ़, लक्ष्मणपुर, नाउडीह, इलाहाबाद एवं यूपी के विभिन्न जिलों से लोग पहुंचे थे।मौके पर कमलनंद पांडेय, शिवपूजन सिंह कुशवाहा, मनोज लाल, मुकुल जायसवाल, रामप्यारे खरवार, श्यामधर सिंह, मुन्ना यादव आदि थे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।