DA Image
23 नवंबर, 2020|10:37|IST

अगली स्टोरी

भूखा रहकर जिले के रेलवे स्टेशन मास्टर किए ड्यूटी

default image

नाइट ड्यूटी एलाउंस में कटौती के खिलाफ दर्ज कर रहे हैं विरोध

आखिरी सांस तक रेलवे के फैसले के खिलाफ संघर्ष का आह्वान

मोहनियां। एक संवाददाता

नाइट ड्यूटी एलाउंस में कटौती के खिलाफ स्टेशन मास्टरों का विरोध जारी है। रविवार को स्टेशन मास्टरों ने भूखे रहकर अपनी ड्यूटी की। पंडित दीनदयाल उपाध्याय मंडल इकाई के अध्यक्ष सरोज रंजन सिंह ने बताया कि रेलवे द्वारा नाइट ड्यूटी एलाउंस में जो कटौती की गई है, उसके खिलाफ चल रहे आंदोलन में हम लोग रविवार को भूखे रहकर ड्यूटी किए हैं। ऑल इंडिया स्टेशन मास्टर एसोसिएशन के बैनर तले 15 अक्टूबर से शुरू हुआ आंदोलन अब भूखा रहकर ड्यूटी करने तक पहुंच गया है।

उन्होंने कहा कि स्टेशन मास्टरों की समस्याओं तथा आंदोलन को रेल मंत्रालय नजरअंदाज कर रहा है। लेकिन, वह लोग आखिरी सांस तक इस फैसले का विरोध करेंगे। कोविड-19 संक्रमण के इस दौर में स्टेशन मास्टर जान हथेली पर रखकर ड्यूटी कर रहे हैं। लेकिन, रेल मंत्रालय नाइट ड्यूटी एलाउंस में कटौती कर सरासर अन्याय किया है। जब तक रेल मंत्रालय अपना फैसला वापस नहीं ले लेता है तब तक हमलोग विरोध का रास्ता जारी रखेंगे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Starved railway station master duty by starving