DA Image
24 नवंबर, 2020|6:53|IST

अगली स्टोरी

सब्जियों की मनमानी कीमत वसूल रहे हैं दुकानदार

default image

मुहल्लों में ठेले से खरीदारी करने पर नहीं हो पाती दाम की जानकारी

आवाज देने पर आते हैं ठेला वाले तब लोग करते हैं सब्जी की खरीदारी

05 से 10 रुपए तक के अंतर पर बेच रहे सब्जी

भभुआ। एक प्रतिनिधि

शहर की गलियों में घूमकर बेचने के लिए जिला प्रशासन द्वारा अनिवार्य किए जाने के बाद दुकानदार सब्जियों के मनमानी दाम वसूल रहे हैं। ठेलावालों की सब्जियों के दाम में अंतर देखा जा रहा है। कोई पांच रुपया कम तो कोई पांच रुपया ज्यादा दाम पर सब्जी बेच रहा है। जब एक साथ ठेला पर सब्जियां बिकती थी, तब उपभोक्ताओं को उसकी दर का पता चल जाता था। लेकिन, अब तो सीमित संख्या में ही दुकानदार गलियों में सब्जी बेचने पहुंच रहे हैं। इसलिए बाहर से सब्जी लाने में महंगा पड़ रहा है और लोकल किसानों के खेत में सब्जी नहीं है जैसी बातें कहकर ग्राहकों से महंगी दर पर बेचे रहे हैं। लेकिन, इसका मूल्य निर्धारण भी नहीं किया जा रहा है। क्योंकि सब्जियों के भाव में उतार-चढ़ाव होते रहता है।

वार्ड 12 की कनिष्का देवी बताती हैं कि उनके दरवाजे पर ठेला वाला आया। उससे 40 रुपए किलो के भाव से बैगन की खरीदारी की। टमाटर भी लिया। कुछ ही देर बाद दूसरा ठेला वाला आया। उससे बैगन का दाम पूछा तो उसने 30 रुपए किलो बताया। टमाटर तो दोनो 60 रुपए किलो ही बताए। अब अफसोस होने लगा कि बाद में ही खरीदारी करती। जब उसके बेटे रोहन ने कहा कि मां दाम में इतना अंतर क्यों? तब कनिष्का ने कहा कि बेटा कल आएगा सब्जी वाला तो उससे पूछेंगे। वार्ड 18 के सुनील तिवारी बताते हैं कि करैला 30 रुपए किलो बिक रहा है। लेकिन, जो सब्जी बिक्रेता उनके दरवाजे पर आया था वह 40 रुपए किलो देकर चला गया। खरीदना इसलिए मजबूरी है कि शहर के बाजार में सब्जी बिक नहीं रही है।

हालांकि नसीम अहमद ने बताया कि गुरुवार को तो शहर के सब्जी मंडी रोड में भी सब्जियों के कई ठेले देखे गए। यहीं पर बिक्री हो रही है। यहां भी दूसरे की सब्जी को नरम बताकर 5 से 10 रुपया ज्यादा दाम वसूला जा रहा है। नगर परिषद प्रशासन को चाहिए कि किसी एक कर्मी की प्रतिनियुक्ति कर सब्जी का दाम तय करे और जिस वाहन से लोगों को कोरोना से बचाव के उपाय बताए जा रहे हैं, उसी से इसके दाम की भी जानकारी आमजनों को दे दी जाती। शहरवासियों की जेबें ढीली नहीं होंगी।

दुकानदार बता रहे कीमत ज्यादा

शहर के वार्ड 14 के मोहित सिंह, महेन्द्र कुमार, वार्ड सात की पूनम देवी, साधना सिंह आदि ने बताया कि लॉकडाउन की वजह से बाजार निकलना नहीं होता है। गली में सब्जी खरीदी जाती है। टमाटर, प्याज, आलू के दाम सबको पता होता है। इस कारण दुकानदार इसकी कीमत सही बताते हैं। जबकि भींडी, बोदी, खीरा, बैगन, हरी मिर्च, लौकी, पटल, कुंजरू आदि के बढ़े हुए दाम बताते हैं। जानकारी के अभाव में उसी भाव पर सब्जी खरीदनी पड़ती है, जितना दुकानदार बताते हैं। सब्जियों के दाम में अंतर की जानकारी तब होती है जब दूसरा ठेले वाला गली में आता है और उससे सब्जी के दाम पूछे जाते हैं।

गलियों में देर शाम तक बेची जा रही सब्जी

जिला प्रशासन ने शहर की सड़कों पर ठेला लगाकर सब्जी बेचने पर रोक लगा दी है। शाम में पांच बजे के बाद प्रशासन की टीम शहर में घूमकर दुकानें बंद करा रही है। लेकिन, सब्जियों व फलों से लदे ठेले पांच बजे के बाद गलियों में देखे जा रहे हैं। वह शाम में सात बजे तक सब्जी बेचते नजर आ रहे हैं। भीड़ भी जुटा रहे हैं। हालांकि प्रशासन ऐसी गलियों में नहीं पहुंच पा रहा है। इससे दुकानदारों को सब्जी पांच बजे के बाद भी सब्जी बेचने में भय नहीं लग रहा है। वार्ड एक के मनोज तिवारी, विरेन्द्र सिंह, उपेन्द्र कुमार ने बताया कि एकता चौक पर बैगन व लौकी 30 रुपए बिक रही थी। लेकिन, गली में ठेला वाले 40 रुपए बेच रहे थे।

शहर से सस्ती मिल रही ग्रामीण बाजार में सब्जी

जिले के चैनपुर, हाटा, चांद, भगवानपुर आदि ग्रामीण बाजारों में भभुआ शहर के मुकाबले सस्ती बिक रही हैं। हाटा के पुनीत कुमार व चैनपुर के अरुण पांडेय ने बताया कि भभुआ में टमाटर 60 रुपए किलो है, जबकि हाटा व चैनपुर में 40 रुपए किलो बिक रहा है। पटल 40 रुपए, खीरा 20 रुपए, बैगन 20 रुपए मिल रहा है।

सब्जी मंडी रोड में लगाया ठेला

शहर के सब्जी मंडी रोड में गुरुवार को ठेला लगाकर सब्जी व फल बेचते कई दुकानदारों को देखा गया। जबकि नगर परिषद ने इन्हें वार्ड की गलियों में बेचने का निर्देश दिया है। लेकिन, वह बिना भय के सब्जी प्रतिबंधित क्षेत्र में बेच रहे हैं।

कोट

सभी दुकानदारों को आवंटित वार्ड में सब्जी व फल बेचने के लिए कहा गया है। अगर सड़क पर ठेला लगाकर सब्जी व फल बेचते पकड़े जाएंगे तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

जन्मेजय शुक्ल, एसडीओ

शहर में बिक रही सब्जी के दाम

सब्जी दाम (प्रति किलो)

आलू 30 रुपए

प्याज 20 रुपए

टमाटर 60 रुपए

बैगन 30 रुपए

पटल 60 रुपए

करैला 40 रुपए

खीरा 30 रुपए

कंुजरू 24 रुपए

खेखसा 40 रुपए

लौकी 30 रुपए

फोटो-23 जुलाई भभुआ- 4

कैप्शन- लॉकडाउन में सड़क पर सब्जी बेचने पर रोक लगाने के बाद भी समाहरणालय पथ में गुरुवार को सब्जी बेचता दुकानदार।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Shopkeepers are charging an arbitrary price for vegetables