DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › भभुआ › आज खुलेगा मां दुर्गा का पट, पूजा समितियों ने की तैयारी (पेज चार/नवरात्र)
भभुआ

आज खुलेगा मां दुर्गा का पट, पूजा समितियों ने की तैयारी (पेज चार/नवरात्र)

हिन्दुस्तान टीम,भभुआPublished By: Newswrap
Mon, 11 Oct 2021 08:00 PM
आज खुलेगा मां दुर्गा का पट, पूजा समितियों ने की तैयारी (पेज चार/नवरात्र)

माथे पर बिंदी, सिंदूर, हाथों में कंगन, कमरधनी, पायल, गले में दिखेगी माला

लौह शस्त्र से लैस शेर पर सवार मां पंडालों में राक्षस का वध करती नजर आएंगी

भभुआ। कार्यालय संवाददाता

मां नवदुर्गा का पट मंगलवार को खुलेगा। विभिन्न पूजा स्थलों पर देवी को आमंत्रण करने के साथ सभी तैयारी पूरी कर ली गई है। शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्र तक हर ओर भक्ति का माहौल बना हुआ है। पूजा पंडालों में देवी गीत बज रहे हैं। भभुआ शहर के एकता चौक, सब्जी मंडी, डायमंड होटल, कलेक्ट्रेट के आसपास, पूरब मोहल्ला, पुराना चौक, पटेल चौक, देवी जी रोड, चकबंदी रोड आदि स्थानों पर पूजा पंडाल बनाकर मां की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा की गई है। इसके अलावा बेलांव, चैनपुर, हाटा, भगवानपुर, अधौरा, चांद के विभिन्न बाजारों व गांवों में आकर्षक पंडाल बनाए गए हैं।

पंडालों को रंग-बिरंगी लाइट, झालर, ट्यूबलाइट, फूलों की माला आदि से सजावट की गई है। मां को भी लाल, पीला, गुलाबी, हरा आदि रंग की साड़ियां पहनाई गई हैं। माथे पर बिंदी, सिंदूर, हाथों में कंगन, कमरधनी, पायल, गले में माला पहनाई गई है। उनके हाथों में त्रिशूल, तलवार आदि हथियार दिख रहे हैं। शेर पर सवार मां दुर्गा राक्षस का वध करती दिखेंगी। कई जगहों पर उनकी प्रतिमा के साथ मां सरस्वती, मां लक्ष्मी, श्री गणेश, कार्तिकेय आदि देवी-देवताओं की भी मूर्तियां स्थापित की गई हैं, जिनकी भी आकर्षक सजावट की गई है।

शारदीय नवरात्र पर मां दुर्गा का पट खुलते ही दर्शनार्थियों की भीड़ जुट जाएगी। पुलिस प्रशासन व प्रशासनिक अधिकारी सुरक्षा में तैनात दिखेंगे। पूजा समितियों के वोलेंटियर भी इस काम में प्रशासन को मदद करते नजर आएंगे। पंचमी व षष्ठी की पूजा एक ही दिन होने से सप्तमी तिथि मंगलवार को होगी। इसलिए इसी दिन मां का पट खुलेगा। इसको लेकर पूजा समितियों द्वारा विशेष धार्मिक अनुष्ठान किया जाएगा। इधर, जिला में दुर्गा पूजा के दौरान इस बार कोरोना के साथ चुनाव का साया भी है। चुनावी साया की वजह से गांवों में कुछ ज्यादा ही चहल-पहल है।

पंचमी व षष्ठी तिथि सोमवार को स्कंदमाता व मां कात्यायनी की पूजा-अर्चना भक्तजनों ने मंदिरों व घरों में विधि-विधान के साथ की। पूजा से पूर्व भक्तों ने गंगाजल छिड़क कर मां से आगमन की प्रार्थना की। फिर धूप, दीप, पंचमेवा रख अगरबत्ती जलाई। इसके बाद मां का ध्यान करते हुए उनके मंत्रों का जाप किया। इसके बाद दुर्गा स्तुति, दुर्गा चालीसा का पाठ किया। फिर आरती कर मां को भोग लगाया।

फोटो-11 अक्टूबरर भभुआ- 3

कैप्शन- शहर के पोस्टऑफिस के पास स्थित पंडाल में सोमवार को मां की पूजा करते श्रद्धालु।

संबंधित खबरें