ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार भभुआभाजपा छठी तो कांग्रेस नौवीं बार संसद पहुंचने की जुगत में (सत्ता संग्राम)

भाजपा छठी तो कांग्रेस नौवीं बार संसद पहुंचने की जुगत में (सत्ता संग्राम)

वोट पाने के लिए प्रत्याशियों को जंगल-पहाड़ का भी करना पड़ेगा दौरा वोट पाने के लिए प्रत्याशियों को जंगल-पहाड़ का भी करना पड़ेगा...

भाजपा छठी तो कांग्रेस नौवीं बार संसद पहुंचने की जुगत में (सत्ता संग्राम)
हिन्दुस्तान टीम,भभुआTue, 14 May 2024 08:00 PM
ऐप पर पढ़ें

वोट पाने के लिए प्रत्याशियों को जंगल-पहाड़ का भी करना पड़ेगा दौरा
सदन की राह तय करने के लिए कदम-दर-कदम झेलना पड़ेगा सवाल

भभुआ, कार्यालय संवाददाता। सासाराम (सुरक्षित) लोकसभा चुनाव के लिए आखिरी चरण में एक जून को मतदान होगा, जिसके लिए अब उल्टी गिनती शुरू हो गई है। मंगलवार को नामांकन पत्र दाखिल करने की प्रकिया पूरी कर ली गई। अब भाजपा छठी तो कांग्रेस नौवीं बार संसद में पहुंचने की जुगत भिड़ा रही है। बसपा को भी कम नहीं आंका जा सकता है। बसपा कैमूर को वोटबैंक का प्रभावी इलाका मानती है और इस जिले से विस चुनाव में अक्सर विधायक देती रही है।

जगजीवन राम कांग्रेस के टिकट पर वर्ष 1952 से 1971 तक का लगातार चुनाव जीते। फिर वर्ष 1977 व 1980 में जनता पार्टी और 1984 में कांग्रेस (जे) से जीत दर्ज की। वर्ष 1989 व 1991 में जनता दल के टिकट पर छेदी पासवान चुनाव जीते। जबकि वर्ष 2004 व 2009 में कांग्रेस के टिकट पर मीरा कुमार ने जीत का परचम लहराया। मुनि लाल भाजपा के टिकट पर वर्ष 1996, 1998 व 1999 तक लगातार जीते। फिर वर्ष 2014 व 2019 में भाजपा के टिकट पर चुनाव जीतकर सदन में गए। इस तरह भाजपा छठी व कांग्रेस नौवीं बार जीत दर्ज करने की कोशिश में जुटी है।

अभी भाजपा, कांग्रेस, बसपा के प्रदेश स्तर के बड़े नेताओं ने चुनाव प्रचार का जिम्मा संभाला है। आने वाले दिनों में राष्ट्रीय स्तर के बड़े नेता सियासी माहौल बनाने के लिए आएंगे। इस बार कांग्रेस के सामने भाजपा को मात देने की बड़ी चुनौती होगी। वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने जीत दर्ज की थी। मौजूदा सांसद छेदी पासवान का टिकट काटकर भाजपा ने पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री मुनि लाल के पुत्र शिवेश कुमार को प्रत्याशी बनाया है। जबकि कांग्रेस ने मनोज कुमार व बसपा ने संतोष कुमार को उम्मीदवार बनाया है।

यह बातें कह वोट मांग रहे प्रत्याशी

भाजपा इस बार भी मोदी की उपलब्धियों को गिनाकर वोट मांग रही है। वहीं कांग्रेस इस चुनाव में वादे पूरे नहीं करने, जाति-धर्म के नाम पर नफरत पैदा करने, जनविरोधी निर्णय की बात बता वोटरों को रिझा रही है। बसपा इंडिया व एनडीए दोनों गठबंधन को आपस्वार्थी बता विकास की चिंता नहीं करने की बात बता अपने पक्ष में वोट मांग रही है। वैसे तो सासाराम संसदीय क्षेत्र से विभिन्न दलों के प्रत्याशी नामांकन पत्र दाखिल किए हैं। निर्दलीय उम्मीदवार भी शामिल हैं।

छेदी, मीरा व मनोज को कितने मिले वोट

वर्ष 2019 के चुनाव में भाजपा के छेदी पासवान को 494800 (50.76%), कांग्रेस की मीरा कुमार को 329,055 (33.76%), बसपा के मनोज कुमार को 86,406 (8.86 %) तथा वर्ष 2014 के चुनाव में भाजपा के छेदी पासवान को 366087

(43.23 %), कांग्रेस की मीरा कुमार को 302760 (35.75%), जदयू के कर्रा परसु रमैया को 93310 (11.02%) व बसपा के बालेश्वर भारती को 31528 (3.72%) मत मिले थे।

फोटो- 16 मई भभुआ- 1

कैप्शन- भभुआ शहर के एकता चौक के पास मंगलवार की शाम बैठकर चुनाव पर चर्चा करते लोग।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें