अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अतिक्रमण हटाने गई टीम पर वनवासियों ने किया हमला

कुल्हाड़ी व डंडा लेकर सड़क तक खदेड़ा, जेसीबी व वाहनों पर किया पथराव

जान बचाकर भागे अधिकारी व कर्मी, हल्का बल प्रयोग में महिलाएं हुईं चोटिल

11.30 बजे अतिक्रमण हटाने पहुंची थी टीम

01.50 बजे वनवासियों ने शुरू किया हमला

भभुआ। हिन्दुस्तान टीम

जंगल की भूमि को अतिक्रमणकारियों के कब्जे से मुक्त कराने पहुंची अफसरों, पुलिस व वनकर्मियों की टीम पर सोमवार को वनवासियों ने हमला बोल दिया। इस तरह की वारदात अधौरा थाना क्षेत्र के गुल्लू व चांद के मड़रिया गांव के पास जंगल में हुई। गुल्लू गांव की घटना अजीबोगरीब थी। वहां के दृश्य को देख ऐसा लगा जैसे वनवासियों ने पूर्व नियोजित योजना के तहत हमला किया है। वैसे तो रामपुर प्रखंड के करमचट में भी अतिक्रमण हटाने के दौरान चार मकान ध्वस्त किए गए। गुल्लू के मामले में 15 नामजद व एक सौ से भी अधिक अज्ञात लोगों के खिलाफ सरकारी काम में बाधा पहुंचाने, हमला करने की एफआईआर दर्ज की जा रही है।

गुल्लू गांव में करीब 11.30 बजे अफसरों, पुलिस व वनकर्मियों की टीम अतिक्रमण हटाने पहुंची थी। जंगल की करीब 40 एकड़ भूमि में अतिक्रमण कर वनवासियों द्वारा लगाई गई धान व मूंगफली की फसल को अधिकारी ट्रैक्टर से जुताई कराकर नष्ट कराना शुरू कर दिए। यह देख एक सौ से भी अधिक की संख्या में पहुंचे महिला-पुरुष वनवासियों ने उनपर हमला बोल दिया। टीम में पुलिस की संख्या कम थी। हालांकि हल्का बल प्रयोग कर पुलिस ने उन्हें रोकने का प्रयास किया। लेकिन, वे वनवासियों को ज्यादा देर तक नहीं रोक सकें।

पुलिस को कमजोर पड़ती देख वनवासियों ने हाथों में डंडा व कुल्हाड़ी लेकर उनपर पथराव करते हुए उन्हें खदेड़ना शुरू किया। वे उन्हें खदेड़ते हुए सड़क तक भगा ले गए। इस दौरान कुछ लोग जेसीबी व अफसरों तथा पुलिस की गाड़ी पर पथराव करते हुए लाठी बरसाने लगे। वनवासियों का दावा था कि पहले पुलिस ने हमला लाठी चार्ज किया था। उन्होंने बताया कि लाठी चार्ज की घटना में गांव की खजूरिया देवी, शिवकुमारी देवी, फूलमतिया देवी, पौढारी देवी, मेहती देवी, सितारा देवी घायल हुई हैं।

गुल्लू में जुटे हैं दो-तीन गांव के ग्रामीण

हालांकि सूत्र बताते हैं कि दो-तीन गांव के ग्रामीण गुल्लू गांव में जुटे हैं। वे इस मुद्दे पर चर्चा कर रहे हैं कि घायलों का इलाज निजी अस्पताल में कराया जाए या अधौरा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में ले जाया जाए। साथ ही वे इस मुद्दे पर भी चर्चा कर रहे हैं कि वन विभाग व जिला प्रशासन की इस कार्रवाई को लेकर वे किस तरह का कदम उठाएं? ताकि, उनके लिए रोजी-रोटी का इंतजाम हो सके।

करमचट में तोड़े गए चार मकान

सबार थाना क्षेत्र के करमचट में वन विभाग की भूमि पर अतिक्रमण कर ग्रामीणों द्वारा बनाए गए मकान को वन विभाग, जिला प्रशासन व पुलिस की टीम ने सोमवार को ध्वस्त कर दिया। अधिकारिक सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार करमचट में चार मकान वन भूमि में बनाए गए थे, जिसे जेसीबी से तोड़ दिया गया।

मड़रिया के लिए नहीं मिली पर्याप्त पुलिस

चांद थाना क्षेत्र के मड़रिया के पास वन विभाग की भूमि में बनाए गए मकान को ध्वस्त करने के लिए सोमवार को पर्याप्त पुलिस नहीं मिल सकी। इस कारण वन विभाग ने इस स्थल से अतिक्रमण को हटवाया। हालांकि भारत बंद को देखते हुए चांद थाने से सात पुलिसकर्मियों की टीम को अतिक्रमण हटाने के लिए भेजा गया था। लेकिन, वन विभाग के अधिकारी पुलिस की संख्या को अपर्याप्त बताते हुए अतिक्रमण हटवाने की कार्रवाई शुरू नहीं कर सके। रेंजर अरुण प्रसाद ने कहा कि जब वे मड़रिया पहुंचे तो वहां के ग्रामीण लाठी-डंडा व पत्थर लेकर हमला के मूड में दिखे। इसलिए वहां कार्रवाई नहीं की जा सकी। इसको लेकर एसडीओ को चिट्ठी लिखी जा रही है।

टीम में ये अधिकारी थे शामिल

गुल्लू में एलआरडीसी एहसान अहमद, सीओ भरतभूषण सिंह, रेंजर विजय शंकर चौबे, एसआई विद्यानंद सिंह, फॉरेस्टर विनोद कुमार सिंह, मड़रिया में सीओ मुरली मनोहर प्रसाद राय, रेजर अरुण प्रसाद, फॉरेस्टर अजीत कुमार, करमचट में फॉरेस्टर अशोक राम आदि थे।

कोट

सीओ भरतभूषण सिंह ने बताया कि सरकारी काम में बाधा पहुंचाने, अधिकारियों व कर्मियों पर हमला करने, वाहन पर पथराव व लाठी बरसाने आदि के आरोप में गुल्लू गांव के 15 नामजद व एक सौ से भी अधिक अज्ञात ग्रामीणों के खिलाफ अधौरा थाने में एफआईआर की जा रही है।

फोटो- 10 सितंबर भभुआ- 19

कैप्शन- अधौरा थाना क्षेत्र के गुल्लू गांव में सोमवार को जंगल की जमीन से अतिक्रमण हटाने गई टीम को लाठी लेकर दौड़ाती महिलाएं।

फोटो- 10 सितंबर भभुआ- 20

कैप्शन- अधौरा थाना क्षेत्र के गुल्लू गांव में सोमवार को जंगल की जमीन से अतिक्रमण हटाने के दौरान ग्रामीण महिलाओं को समझाती पुलिस।

फोटो- 10 सितंबर भभुआ- 21

कैप्शन- अधौरा थाना क्षेत्र के गुल्लू गांव में सोमवार को जंगल की जमीन में लगाई गई धान की फसल को ट्रैक्टर से जोतवाकर नष्ट कराती टीम।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:bhabua news