DA Image
26 फरवरी, 2020|12:18|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आयुष्मान भारत को गति देने को प्रशिक्षित किए गए अफसर

पटना से आए प्रशिक्षक ने अफसरों को दी आयुष्मान भारत की जानकारी

चिन्हित किए गए परिवार का पांच लाख रुपए तक मुफ्त में होगा इलाज

भभुआ। हिन्दुस्तान प्रतिनिधि

प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना से चिन्हित अधिक से अधिक परिवार के मरीजों को कैसे लाभ दिया जाए इसको लेकर शनिवार को अफसरों को प्रशिक्षित किया गया। कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित प्रशिक्षण की अध्यक्षता डीएम डॉ. नवल किशोर चौधरी ने की। पटना से आए प्रशिक्षक ने सभी प्रखंडों के बीडीओ, पीएचसी के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, स्वास्थ्य प्रबंधक, शिक्षा, आईसीडीएस व समाज कल्याण विभाग के वरीय अफसरों को प्रशिक्षित किया।

प्रशिक्षक शहबाज ने अधिकारियों को आयुष्मान भारत योजना क्या है, यह कब शुरू हुई, इसका उद्देश्य क्या है, किस तरह के परिवार को इस योजना का लाभ दिया जाना है, चिन्हित परिवार के ज्यादा से ज्यादा मरीजों को किस तरह लाभ दे सकते हैं आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस योजना से प्रत्येक परिवार के मरीजों को पांच लाख रुपए तक का मुफ्त इलाज किया जा सकता है। आप सभी राशन कार्ड के सहारे हेल्थ कार्ड बनवाकर परिवार के सदस्यों का इलाज कराए।

उन्होंने योजना को गति देने के लिए अधिकारियों से अनुरोध किया और कहा कि प्रखंड कार्यालय में बीडीओ के पास मुखिया सहित अन्य जनप्रतिनिधि तथा आमजन प्रतिदिन आते-जाते हैं। उन्हें आयुष्मान भारत योजना की जानकारी देकर अधिक से अधिक लोगों को इसका चिकित्सकीय लाभ दिलवाया जा सकता है। जन-जन तक को इस योजना की जानकारी पहुंचाने के लिए सोर्स डेवलप करने को कहा गया।

ज्ञात हो कि अब तक जिले के सरकारी अस्पतालों में 1000 मरीजों का हेल्थ कार्ड बनाकर आयुष्मान भारत योजना का लाभ दिया जा रहा है। इस योजना का कार्यालय सदर अस्पताल में भी स्थापित है। प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना के तहत प्रत्येक परिवार को पांच लाख रुपए तक का नि:शुल्क इलाज किया जाता है। प्रशिक्षण के दौरान सिविल सर्जन डॉ. अरुण कुमार तिवारी, डीपीएम धनंजय कुमार शर्मा, डीआईओ आरके चौधरी आदि अधिकारी थे।

फोटो- 27 जुलाई भभुआ-7

कैप्शन- कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में शनिवार को आयुष्मान भारत योजना के तहत आयोजित प्रशिक्षण में भाग लेते जिले के विभिन्न विभागों के अधिकारी।