bhabhua news - वोट देने में महिलाओं से आगे निकल गए पुरुष वोटर DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वोट देने में महिलाओं से आगे निकल गए पुरुष वोटर

सासाराम संसदीय क्षेत्र में 56.88 प्रतिशत पुरुष व 51.65 प्रतिशत महिलाओं ने डाला है वोट

सबसे कम करगहर विधानसभा क्षेत्र की महिलाएं 45.73 प्रतिशत की हैं मताधिकार का प्रयोग

भभुआ। हिन्दुस्तान संवाददाता

लोकसभा चुनाव में अपने मताधिकार का प्रयोग करने में महिलाएं पुरुषों से पीछे रह गईं। सासाराम संसदीय क्षेत्र में कुल 54.39 फीसदी मतदान हुआ है, जिसमें पुरुष 56.88 एवं 51.65 प्रतिशत महिलाओं ने मतदान किया है। संसदीय क्षेत्र के करगहर विधानसभा में महिलाओं ने सबसे कम 45.73 प्रतिशत वोट ही मत दिया है। जिला प्रशासन द्वारा भारत निर्वाचन आयोग को भेजी गई रिपोर्ट के अुनसार मोहनियां विधानसभा में पुरुष 62.2 व महिला 58.40, भभुआ में पुरुष 58.4 व महिला 53.44, चैनपुर में पुरुष 58.5 व महिलाएं 57.29, चेनारी में पुरुष 54.77 एवं महिला 52.65, सासाराम में पुरुष 52.76 व महिला 46.27 तथा करगहर विधानसभा क्षेत्र में पुरुष 56.11 व 45.73 प्रतिशत महिलाओं ने मतदान किया है।

अगर इस आंकड़े पर गौर करें तो प्रत्येक विधानसभा में महिलाओं ने पुरुषों से कम मतदान किया है। महिलाओं का वोट प्रतिशत बढ़ाने के लिए जिला प्रशासन ने आंगनबाड़ी सेविका, सहायिका, महिला पर्यवेक्षिका, जीविका दीदी, एएनएम, आशा कार्यकर्ताओं को उन्हें जागरुक करने की जिम्मेवारी सौंपी थी।

महिलाओं को मिला है बराबरी का अधिकार

भभुआ। पंचायत व निकाय चुनाव में बराबरी का अधिकार मिलने के बाद भी यहां की महिलाएं वोट देने में पुरुषों से पिछड़ गईं। सरकार ने इस उद्देश्य से महिलाओं को बराबरी का अधिकार दिया है कि ताकि वह घुंघट की ओट में चौकठ से बाहर निकलकर अपने हक की लड़ाई लड़ सकें और उन्हें न्याय भी मिल सके। पंचायत चुनाव में जब महिलाओं ने जब प्रतिनिधित्व की बागडोर थामा तो उनमें बदलाव भी दिखा। लेकिन, लोकसभा चुनाव में वोट प्रतिशत पर गौर करें तो महिलाएं अपने अधिकार के प्रति पूरी तरह जागरुक नहीं रहीं। महिला सशक्तीकरण के उद्देश्य से सरकार महिलाओं को उनके अधिकार के प्रति जागरुक करने के लिए कई कार्यक्रम भी चला रही है।

महिलाओं को और जागरुक करने की है जरुरत

भभुआ। महिला हेल्पलाइन की परियोजना प्रबंधक विनिता गुप्ता ने बताया कि महिलाएं पहले से बहुत ज्यादा जागरुक हुई हैं। अब वह घरों से बाहर निकलकर अपनी आवाज बुलंद कर रही हैं। शहरी क्षेत्र में भारी संख्या में महिलाओं ने बूथों पर पहुंचकर अपने मताधिकार का प्रयोग किया है। हालांकि ग्रामीण क्षेत्र में महिलाओं को अभी और जागरुक करने की जरुरत है। पिछले चुनाव से महिलाओं के वोट प्रतिशत में इस बार काफी वृद्धि हुई है। महिला हेल्पलाइन के माध्यम से समय-समय पर कार्यक्रम आयोजित कर उन्हें उनके अधिकार के बारे में विस्तार से जानकारी दी जा रही है।

फोटो-22 मई भभुआ- 8

कैप्शन- भगवानपुर के सरैयां मतदान केन्द्र पर वोट देने के लिए कतार में खड़ी महिलाएं (फाइल फोटो)।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:bhabhua news