bhabhua news - वोट देने में अव्वल रहे मोहनियां के कर्मी, चैनपुर के पिछड़े DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वोट देने में अव्वल रहे मोहनियां के कर्मी, चैनपुर के पिछड़े

चुनाव ड्यूटी में लगे कर्मियों ने टाउन हाई स्कूल के फैसिलेटर सेंटर में डाला था वोट

सासाराम के तीन विधानसभा क्षेत्र के 1554 कर्मियों ने भी किया है मताधिकार का प्रयोग

भभुआ। हिन्दुस्तान संवाददाता

सासाराम संसदीय क्षेत्र में लोकसभा चुनाव में वोट देने में मोहनियां के मतदान कर्मी सबसे आगे रहे। जबकि दूसरे नंबर पर रामगढ़ विधानसभा क्षेत्र के कर्मी रहे। लोकसभा चुनाव के कार्य में लगाए गए मतदान कर्मियों को वोटिंग के लिए शहर के टाउन हाई स्कूल में फैसिलेटर सेंटर बनाया गया था। इस सेंटर पर कैमूर जिले के विधानसभावार मतदान केन्द्र बनाया गया था। पोस्टल बैलेट कोषांग के वरीय अधिकारी अमरेश कुमार अमर ने बताया कि वोटिंग के लिए मोहनियां विधानसभा के 833 कर्मियों ने वोट देने के लिए प्रपत्र 12 में आवेदन किया था। इनमें से 706 कर्मियों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

इसी प्रकार चैनपुर में 1144 कर्मियों ने प्रपत्र 12 में आवेदन किया था और 686 ने वोट डाला। भभुआ विधानसभा में 1619 कर्मियों ने प्रपत्र 12 में आवेदन देकर 1035 ने मतदान किया। बक्सर संसदीय क्षेत्र के रामगढ़ विधानसभा के 803 कर्मियों ने मतदान के लिए प्रपत्र 12 में आवेदन किया था और 570 ने वोट डाला।

वरीय उपसमाहर्ता ने यह बताया कि रोहतास जिले के तीन विधानसभा सासाराम, करहगर एवं चेनारी विधानसभा में चुनाव ड्यूटी में लगे 1554 मतदान कर्मियों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है। उक्त तीनों विधानसभा क्षेत्र के तीन हजार कर्मियों ने वोट देने के लिए प्रपत्र 12 में आवेदन किया था। उन्होंने बताया कि रोहतास जिले में चुनाव ड्यूटी में लगे कर्मियों द्वारा अभी मतदान किया जा रहा है। मतों की संख्या अभी कुछ और बढ़ सकती है। वरीय पदाधिकारी ने यह भी बताया कि वोटिंग का कार्य संपन्न होने के बाद रोहतास जिले के संबंधित विधानसभा क्षेत्र के सहायक निर्वाचन पदाधिकारी द्वारा पोस्टल बैलेट को कैमूर में भेजा जाएगा।

सैनिक सर्विस वोटर मतदान में नहीं ले रहे हैं दिलचस्पी

भभुआ। बाहर में रहकर नौकरी करने वाले व देश की सुरक्षा में सीमा पर तैनात सैनिक सर्विस वोटर मतदान में दिलचस्पी नहीं ले रहे हैं। पोस्टल बैलेट कोषांग से मिली जानकारी के अनुसार, सर्विस वोटरों को वोट देने के लिए करीब दस दिन पहले जिला प्रशासन ने उनके कार्यालयों में 4076 ऑनलाइन ई-पोस्टल बैलेट भेजा था। लेकिन, अभी तक 147 सैनिक सर्विस वोटरों ने ही वोट देकर डाक के माध्यम से पोस्टल बैलेट कोषांग में लौटाया है। अफसरों ने बताया कि 23 मई को आठ बजे तक जिन सैनिक सर्विस वोटरों द्वारा पोस्टल बैलेट भेजा जाएगा उनके मतों की गिनती की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:bhabhua news