DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूर्य के ताप व गरम हवा ने बढ़ाई लोगों की बेचैनी

दस बजे के बाद लोगों को होने लगा है गर्मी का अहसाह

गर्मी बढ़ने से लोगों में बीमारी की सताने लगी है आशंका

ग्राफिक्स

39 डिग्री अधिकतम तापमान

20 डिग्री है न्यूनतम तापमान

भभुआ। एक प्रतिनिधि

अप्रैल शुरु होते ही सूर्य का ताप तेज हो गया है। गरम हवा लू जैसी अहसास करा रही है। यह बेहतर हुआ कि अप्रैल माह में ही सरकारी स्कूल मॉर्निंग हो गए। अन्यथा, बच्चों को स्कूल आने-जाने में तीखी धूप परेशान करती। हालांकि अभी ही धूप तेज होने व हवा गरम रहने से लोग परेशान दिख रहे हैं। सुबह में 10 से ही गरम हवाएं शुरू हो जा रही हैं। दोपहर में 12 बजते-बजते सूर्य की किरण सीधे सिर पर पड़ने लग रही है।

अभी गर्मी शुरू हो रही है ऐसा सोचकर लोग सिर को ढंकने के लिए तौलिया, गमछा व टोपी लेकर नहीं चल पा रहे हैं। ऐसे में उन्हें प्यास लगना भी स्वभाविक है। जब उन्हें प्यास लग रही है तो वह पानी के लिए दुकानों की ओर बढ़ जा रहे हैं। स्थानीय लोगों ने बताया कि मौसम को देखने से लगता है कि इस वर्ष धरती ज्यादा तपेगी।

गर्मी शुरु होती ही पेय पदार्थों की डिमांड बढ़ गई है। दुकानदार गन्ने का रस, लस्सी, सत्तू का शरबत, नींबू व पुदीना का शरबत, फलों के जूस आदि की दुकानें शहर के विभिन्न चौक-चौराहों पर खुली हुई हैं, जहां गर्मी से बचने के लिए लोग इसे पी रहे हैं। शहर के एकता चौक, पटेल चौक, जयप्रकाश चौक आदि स्थानों पर पेय पदाथों की कई दुकानें खुली हैं।

रोजाना बढ़ रहा है तापमान

तापमान में रोजाना वृद्धि हो रही है। रविवार को अधिकतम तापकाम 37 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम 20 डिग्री सेल्सियस था, जबकि सोमवार को अधिकतम 38 और न्यूनतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया है। मंगलवार को 39.5 अधिकतम व 20 डिग्री सेल्सियस न्यूनतम रहा।

गर्मी से बीमारी बढ़ने की है आशंका

गर्मी व तीखी धूप से बीमारी बढ़ने की आशंका लोगों को सताने लगी है। निजी व सरकारी अस्पतालों में पीड़ित लोग पहुंचने भी लगे हैं। वार्ड 11 के उदय सिंह बताते हैं उनका लड़का प्रियांशु जब सोमवार को स्कूल से लौटा तो वह उल्टी-दस्त करने लगा। पूछने पर पता चला कि स्कूल में ही उसे उल्टी शुरू हुई थी। इलाज कराने पर वह ठीक है, लेकिन मंगलवार को उसे स्कूल नहीं भेजा गया।

क्या कहते हैं चिकित्सक

सदर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. सुरेशचंद्र लाल का कहना है कि गर्मी बढ़ गई है। धूप में अधिक देर तक रहने से बुखार होने की आशंका बनी रहती है। डायरीया, शरीर में पानी की कमी से भी लोग बीमार हो सकते हैं। ऐसे मौसम में लोगों को तेज धूप से बचना चाहिए। सिर को ढंककर रखने, सूती कपड़े का उपयोग करने और अधिक से अधिक पानी पीने से बचा जा सकता है।

क्या करें परहेज

* मसालेवाले, तले और बासी खाद्य पदार्थों का सेवन न करें

* देर रात तक जागना और सुबह देर तक नहीं सोना चाहिये

* घर से निकलते समय सिर पर कपड़ा रखें व पानी पीकर निकलें

* ज्यादा समय तक धूप में न रहें और धूप में व्यायाम और टहलने से बचें

गर्मी में कैसा हो आहार

* मीठे, हल्के, चिकनाईरहित, शीतल और तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए

* तरबूज, खरबूजा, मौसमी, संतरा, मीठे अंगूर आदि का सेवन करना चाहिए

* शीतल जल, पानी, नींबू, चीनी का घोल, जूस, शरबत का सेवन करना चाहिए।

फोटो- 02 अप्रैल भभुआ- 12

कैप्शन- धूप में डुमरावां से पैदल यात्रा करने के बाद अधौरा के कतकी मोड़ के पास छाया में बैठी महिलाएं व अन्य।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:bhabhua news