DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शहर के हर चौराहों पर टांगे प्लास्टिक बैन की सूचना

नगर विकास एवं आवास विभाग के प्रधान सचिव ने दिया सख्त निर्देश

नगर में लगेंगे पोस्टर व बैनर, होगा दीवार लेखन व नुक्कड़ नाट्क

02 से पांच हजार रुपया व्यवायिक उपयोग पर लगेगा जुर्माना

01 सौ से पांच सौ रुपया घरेलू उपयोग पर देना होगा जुर्माना

भभुआ। कार्यालय संवाददाता

जिले के हर भीड़ वाले क्षेत्र व चौक-चौराहों पर प्लास्टिक बैन की सूचना टांगने का निर्देश नगर विकास एवं आवास विभाग के प्रधान सचिव चैतन्य प्रसाद ने नगर परिषद को दिया है। उन्होंने अपने पत्र में लिखा है कि प्लास्टिक के थैलों पर लगाए गए प्रतिबंध से संबंधित हर पहलुओं के बारे में व्यापक प्रसार-प्रसार कर इसकी सूचना आमजनों को दी जाए। उन्होंने सभी स्कूल, कॉलेज, सब्जी मंडी, सरकारी व निजी प्रतिष्ठानों, धार्मिक स्थलों, नदी घाटों, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, अस्पताल आदि जगहों पर कैरी बैग पर बैन लगाने की सूचना पोस्टर, होर्डिंग, बैनर, नुक्कड़ नाट्क, दीवार लेखन के माध्यम से दें, ताकि लोग जागरूक हो सकें।

प्रधान सचिव ने ध्वनि विस्तारक यंत्र के माध्यम से भी प्रचार कराने को कहा है। आमजनों को यह भी बताने की जरूरत बतायी गई है कि प्लास्टिक के उपयोग से जनमानस के स्वास्थ्य पर क्या असर पड़ता है? अगर कूड़े पर जमा प्लास्टिक को मवेशी खाते हैं तो उन्हें किस तरह का नुकसान हो सकता है। इसके जलाने से निकलनेवाला धुआं स्वास्थ्य के लिए कितना जहर साबित हो सकता है। यह धुआं व प्लास्टिक पर्यावरण को कितना नुकसान पहुंचाएंगे। पर्यावरण के प्रभावित होने से प्रकृति कितनी प्रभावित होगी की भी जानकारी दी जाए।

उन्होंने सिटी स्क्वायड/टास्कफोर्स के गठन का भी निर्देश दिया है, जिसमें जिला प्रशासन के प्रतिनिधि, नगर निकाय के नगर आयुक्त, कार्यपालक पदाधिकारी, नगर प्रबंधक, सहायक अभियंता, पुलिस विभाग के निरीक्षक या अवर निरीक्षक, राज्य प्रदूषण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी, एईई, वैज्ञानिक, सामुदायिक सामाजिक संगठन व स्वयंसेवी संस्था के सदस्य, शहरी स्वयं सहायता समूह के सदस्य शामिल किए जाएंगे।

उन्होंने पत्र के माध्यम से जानकारी दी है कि शहर की सब्जी व वाणिज्यक दुकानों, भोजनालय आदि का औचक निरीक्षण कर व्यवसायियों द्वारा उपयोग किए जानेवाले प्रतिबंधित प्लास्टिक कैरी बैग को सिटी स्क्वायड/टास्कफोर्स की टीम जब्त करेगी। वैसे पॉलीथिन मैटेरियल जिनकी मोटाई 50 माईक्रोन से कम हो और जो प्लास्टिक अपशिष्ट प्रबंधन नियमावली 2016 में किए गए प्रावधानों के अनुसार जिनपर लेबल अथवा मार्क नहीं किए गए हो को जब्त करना है। इस उपविधि की अनुसूची एक में अंकित व्यक्ति से जुर्माना वसूल करना है। यह टीम नगर में प्लास्टिक कैरी बैग के संचलन व विक्रय को रोकने का काम करेगी।

घरेलू उपयोग पर भी भरना होगा जुर्माना

प्लास्टिक बैन के बाद इसका घरेलू उपयोग पर भी जुर्माना लगेगा। कोई व्यक्ति इसका उपयोग करते पहली बार पकड़ा जाता है तो उससे 100 रुपया उक्त टीम जुर्माना वसूल करेगी। दूसरी बार उपयोग करते पकड़ाने पर 200 और तीसरी बार में 500 रुपया जुर्माना लिया जाना है। इतना ही नहीं खुली जगह पर प्लास्टिक अपशिष्ट के जलाने पर पहली बार पकड़े जाने पर दो हजार, दूसरी बार में तीन हजार व तीसरी बार में पांच हजार रुपया जुर्माना देना पड़ेगा। निर्धारित मोटाई व आकार का विचार किए बिना प्लास्टिक बैग के उत्पादन, वितरण, व्यवसाय, भंडारण, विकय करते पहली बार पकड़े जाने पर दो हजार, दूसरी बार में तीन हजार और तीसरी बार पकड़े जाने पर पांच हजार रुपए जुर्माना वसूल किया जाना है। वाणिज्यक उपयोगकताओं से पहली बार में 15 सौ, दूसरी बार 25 सौ और तीसरी बार के उपयोग पर 35 सौ रुपए जुर्माना लगेगा।

फोटो- 07 दिसंबर भभुआ- 17

कैप्शन- शहर के समाहणालय पथ स्थित सब्जी मंडी से शुक्रवार को प्लास्टिक के थैले में सब्जी लेकर जाते लोग।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:bhabhua news