DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैंकों में हड़ताल से 10 करोड़ का कारोबार प्रभावित

मध्य बिहार ग्रामीण बैंक को छोड़ सभी बैंकों में लटकते रहे ताले

बैंकों से पैसा निकालने गांव से आए ग्राहकों को लौटना पड़ा घर

11 वें समझौते को लागू करने की कर रहे हैं मांग

15 फीसदी से अधिक वेतन वृद्धि पर अड़े हैं कर्मी

भभुआ। नगर संवाददाता

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन्स के आह्वान पर गुरुवार को कैमूर के बैंककर्मी हड़ताल पर रहे। इससे पूरे जिले की बैंकिंग सेवाएं चरमरा गयीं। क्योंकि हड़ताल में अलग-अलग बैंकों की यूनियन शामिल थीं। कई जगहों पर एटीएम सेवा भी ठप रही। इससे आम उपभोक्ता परेशान रहे। हड़ताल से अंजान ग्रामीण जब बैंकों में पहुंचे और ताला लटकते देखा तो वे हैरान हुए और आसपास के दुकानदारों से जानकारी लेने के बाद वे एटीएम की ओर भागे। लेकिन, भभुआ शहर की एटीएम सेवा की हालत भी बहुत अच्छी नहीं रही। इस कारण हड़ताल के पहले दिन गुरुवार को करीब 10 करोड़ रुपयों का लेनदेन प्रभावित हुआ।

हड़ताल में बैंक ऑफ इंडिया ऑफिसर्स एसोसिएशन, ऑल इंडिया पंजाब नेशनल बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन, नेशनल बैंक एंप्लाइज एसोसिएशन पीएनबी, सेंट्रल बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन, बिहार स्टेट सेंट्रल बैंक एंप्लाइज यूनियन आदि संगठन से जुड़े लोग शामिल हुए। हड़ताली बैंककर्मी 11वें वेतन समझौते को लागू करने की मांग कर रहे थे। उनका कहना था कि पिछले वेतन समझौते की तर्ज पर उन्हें 15 फीसदी से अधिक वेतन वृद्धि दी जाए। हड़ताल का असर चेक क्लियरेंस, नकद जमा निकासी, पैसे के ट्रांसफर आदि कामों पर पड़ा।

बैंक ऑफ बड़ौदा के एक हड़ताली कर्मी ने बताया कि कैमूर में दस करोड़ से उपर का कारोबार हर रोज होता है। हड़ताल के कारण पहले दिन दस करोड़ का कारोबार प्रभावित हुआ है। लेकिन, एलडीएम का कहना था कि आठ करोड़ रुपए का लेनदेन प्रभावित हुआ है। हालांकि शहर के कलेक्ट्रेट पथ पर स्थित ग्रामीण बैंक खुला रहा। वे इस हड़ताल का नैतिक समर्थन तो कर रहे थे, लेकिन बैंक में काम हो रहा था। हालांकि काम के नाम पर बैंक में खानापूर्ति ही देखी गई। हड़ताल का असर इन कर्मचारियों पर पूरी तरह दिख रहा था। बैंक में भभुआ के पंची की सरिता देवी व कमता की रानी देवी ने बताया कि हमलोग अपने बच्चों का खाता खोलवाने आए हैं। लेकिन, खाता नहीं खुल रहा है।

समझौते के आधार पर 15 प्रतिशत वेतन वृद्धि की मांग

बिहार बैंक इम्लाई एसोसिएशन के अध्यक्ष आरआर सहाय ने बताया कि उनकी मांगों में वेतन में पर्याप्त वृद्धि, सेवा शर्त में बेहतरी एवं वेतन समझौते में स्केल सात तक के अधिकारियों को शामिल आदि मुख्य हैं। बैंक प्रबंधन की देश की सबसे बड़ी संस्था भारतीय बैंक संघ ने पिछली वार्ता में दो प्रतिशत ही वेतन वृद्धि का प्रस्ताव दिया था, जिसे यूएफबीयू ने खारिज कर दिया था। यूएफबीयू की मांग है कि पिछले समझौते के आधार पर वेतन में 15 प्रतिशत से अधिक वृद्धि की जाए।

ग्राहकों को गर्मी में झेलनी पड़ी परेशानी

शहर में बैंक अधिकारियों व कर्मचारियों की दो दिवसीय हड़ताल का खामियाजा उपभोक्ताओं को भुगतना पड़ा। ग्रामीण इलाके के लोगों को बैंक में हड़ताल की सूचना नहीं थी। इस कारण वे अपने कामों को लेकर शहर के विभिन्न बैंकों में पहुंचे थे। लेकिन, बैंक में ताला लटका देख वापस लौट गए। सेमरियां के वीरेन्द्र यादव, वार्ड एक के सत्यप्रकाश तिवारी, दीपक खत्री ने कहा कि हमलोगों को बेवजह धूप में परेशान होना पड़ा। यदि जानकारी होती तो वे बैंक नहीं आते। भगवानपुर के रामसागर पांडेय को खाद व बीज खरीदना था। लेकिन, बैंक से पैसा नहीं निकलने के कारण उन्हें गांव लौटना पड़ा। झलखारो देवी व रघुवंश सिंह पेंशन लेनक पंजाब नेशनल बैंक में आए थे। उन्होंने कहा कि बड़ी मुश्किल व आस लेकर बैंक आए थे। लेकिन, ताला बंद है। पता होता तो गर्मी में वे अपने गांव से नहीं आते।

क्या कहते हैं एलडीएम

अग्रणी बैंक के जिला प्रबंधक अंजनी कुमार ने बताया कि बैंक अधिकारी व कर्मियों की हड़ताल से करीब आठ करोड़ रुपए का कारोबार प्रभावित हुआ है। दो दिनों तक हड़ताल चलेगी।

फोटो-30 मई भभुआ- 10

कैप्शन- भारतीय स्टेट बैंक की भभुआ शाखा में बुधवार को ताला लटकते देख वापस लौटते ग्राहक।

इनसेट

दस दिनों से हड़ताल पर हैं ग्रामीण डाक सेवक

भभुआ। जिले के सैकड़ों ग्रामीण डाक सेवक भी पिछले दस दिनों से अपनी मांगों के समर्थन में हड़ताल पर हैं। अब बैंक के अधिकारी व कर्मी भी हड़ताल दो दिनों के लिए हड़ताल पर चले गए। ग्रामीण डाक सेवकों की मांग है कि 29 माह से लागू कमलेश चंद्रा की एकल रिपोर्ट को लागू किया जाए। जब तक रिपोर्ट लागू नहीं होगी तब तक वे हड़ताल पर रहेंगे। अपनी मांग सभी लेना चाह रहे हैं। लेकिन, आर्थिक प्रबंधन के कोई खिलाफ मुंह खोलने को तैयार नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:bhabhua news