DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जमीन के एक छोटे से टुकड़े के लिए भाई बना भाई का जानी दुश्मन

जमीन के छोटे टुकड़े और पुरानी रंजिश में बड़े भाई व भाभी समेत तीन लोगों को धारदार हथियार से काट देने का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। यह घटना कैमूर जिले के भगवानपुर की महाब्राह्मण टोली में मंगलवार की रात 12 बजे हुई। हत्या का आरोप छोटे भाई छोटकन पांडेय उर्फ पंडा पर लगा है। मृतकों में 45 वर्षीय रामचंद्र पांडेय व 55 वर्षीय ग्रामीण जुड़ावन कानू शामिल हैं। जबकि गंभीर रूप से घायल भाभी 40 वर्षीय पार्वती देवी का इलाज वाराणसी के ट्रामा सेंटर में चल रहा है, जहां वह जीवन और मौत से जूझ रही है।

सूचना पर पहुंची भगवानपुर पुलिस ने रामचंद्र की लाश को गांव की गली व जुड़ावन के शव को दक्षिण टोली स्थित हनुमान मंदिर के समीप मड़ई से बरामद किया और पोस्टमार्टम के लिए भभुआ सदर अस्पताल भिजवाया। पुलिस ने पीड़ित परिजनों व ग्रामीणों से घटना के बारे में जानकारी ली। मौके से पुलिस ने हत्यारे भाई की पत्नी को हिरासत में लेकर थाने पहुंची, जिससे वह पूछताछ कर रही है। हालांकि घटना के बाद से पंडा फरार है। लेकिन, पुलिस उसकी गिरफ्तारी के लिए उसके संभावित ठिकानों पर छापेमारी कर रही है।

बताया गया है कि रामचंद्र व पंडा सहोदर भाई हैं। इनके अलावा उनका कोई अन्य भाई नहीं हैं। पैतृक संपत्ति के नाम पर अपना मकान व दो बीघा जमीन है। इसी जमीन व रिश्तेदारी में ट्रक चलाने के दौरान पैसा लेकर गांव भाग आने को लेकर दोनों भाइयों के बीच हाल के दिनों विवाद हुआ था। परिजनों का मानना है कि घटना के मूल में यही दोनों कारण हैं। जबकि जुड़ावन से पंडा की पुरानी रंजिश थी।

थानाध्यक्ष रविकांत ने बताया कि पंडा की पत्नी ने जानकारी दी है कि उसका पति रात में शराब पीकर आया और घर का खाना फेंक दिया। उसके अलावा भैया व भाभी के साथ गाली-गलौज करते हुए मारपीट करने लगा। वह हाथ में गड़ासा लिए हुआ था। भय से भैया व भाभी घर से निकलकर गांव की ओर भागने लगे। पंडा ने उन्हें दौड़ाकर उनपर गड़ासा चला दिया, जिससे भैया की मौत हो गई और भाभी खून से लथपथ छंटपटा रही थीं। गांव के दफादार भानजी सिंह भागकर अपनी जान बचाएं। भागने के दौरान पंडा ने मंदिर के पास सोए जुड़ावन की भी हत्या कर दी।

थानेदार ने बताया कि खून से लथपथ घायल पार्वती को इलाज के लिए भभुआ भेजा गया। लेकिन, उनकी नाजुक हालत को देख डॉक्टर ने उन्हें रेफर कर दिया। परिजन उन्हें वाराणसी के ट्रामा सेंटर में ले गए, जहां उनका इलाज चल रहा है। समाचार लिखे जाने तक किसी पक्ष द्वारा घटना की एफआईआर दर्ज नहीं कराई जा सकी थी। अभी तक घायल पार्वती का भी बयान पुलिस नहीं ले सकी है।र को रोते-बिलखते मृत जुड़ावन के पीड़ित परिजन।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:bhabhua news