DA Image
20 अक्तूबर, 2020|11:40|IST

अगली स्टोरी

घटने लगा गंडक का जलस्तर, कटाव का बढ़ा खतरा

गंडक का जलस्तर पिछले दो दिनो से लगातार घटने  लगा है। परंतु अब जब बाराज से पानी छोड़ने की मात्रा 24 घंटे मे 25 से 30 हजार क्यूसेक कम होने लगा है। जिससे जलस्तर घट रहा है। इस स्थिति मे  अब गंडक के कटाव का खतरा बढ़ सकता है। हालांकि रखई व बैजुआ दियारे के पास कटाव नदी कर रही है। वहीं बैजुआ बीन टोली के पास घरों के पास गंडक का पानी फैल गया है। अब जलस्तर बढ़ा तो इस टोला पर बाढ़ का खतरा बढ सकता है। हालांकि अभी पीडी रिग बांध पर कटाव का कोई खतरा नहीं है। क्योंकि नदी 300 फीट दूर बांध से चली गई है। वैसे गंडक का जलस्तर जब घटता है तभी कटाव का तांडव शुरू होता है। जिसको  देखते हुए अभियंताओं की टीम बांधों पर कैम्प कर रही है। जल संसाधन विभाग के सहायक अभियंता आशीष कुमार ने बताया कि जहां-जहां रेनकटिग हुआ है। उसको दुरूस्त कराया जा रहा है। वैसे पूजहा, घोड़हिया, कोईरपट्टी, लौकरिया व आशाराम पटखौली के संवेदनशील स्थानों पर बचाव मैटेरियल का स्टॉक किया गया है। खुला बालू, जीओ बैग व एसी बैग तैयार कर ली गई है। वैसे अभी कोई खतरे की बात नहीं है। बैजुआ का अरूण यादव ने कहा कि इस गांव के सामने गंडक कहीं-कहीं कटाव कर रही है। क्योंकि जलस्तर घटने से कटाव होता है। गंडक 40 फीट नीचे से कटाव करती है। जिसके कारण दूर दिखायी देती नदी घंटे भर मे पास चली आती है। हालांकि बाढ व कटाव के खतरे की आशंका से गंडक समीपवर्ती क्षेत्रों के लोगो मे बेचैनी बरकार है । कोईरपट्टी कटिंग इंड के पास भी गंडक दवाब बना सकती है। जिसको देखते हुए अभियंताओ की टीम वहां विशेष चौकसी बरत रही है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Gandak water level decreases increased risk of erosion