DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अखंड सौभाग्य के लिए महिलाओं ने रखा निर्जला व्रत

सुहागिनों का महत्वपूर्ण त्यौहार तीज जिले में धूमधाम से मनाया गया। सुहागिनों ने न सिर्फ अपने सुहाग की लंबी उम्र की प्रार्थना की बल्कि अपने पति से सातों जन्म तक साथ निभाने का वादा भी लिया।

बुधवार की सुबह से ही मंदिरों और घरों में सुहागिन महिलाओं द्वारा शंकर पार्वती की पूजा अर्चना की गयी। जो देर शाम तक जारी रहा। स्त्रियों ने सोलहों श्रृंगार करके पांच फल और मेवा से इस व्रत को किया। पूरे दिन-रात व्रती सुहागिन निर्जला रह कर इस कठिन पूजा को पूरा किया। पूजा के बाद व्रतियों ने अपने पति के साथ-साथ बड़ों का भी आशीर्वाद लिया। गुरुवार की सुबह ये व्रती विसर्जन करके ही अन्न-जल ग्रहण करेंगी।

तीज को लेकर दिन भर मंदिरों और घरों में भजन और कीर्तन भी चलता रहा। कई व्रती महिलाओं ने रात भर पूजा स्थल पर जागरण किया। परिवार वालों के साथ सामूहिक भजन गीत गाती रहीं।

सुहागिनों ने सुहाग के लिए मांगी लंबी उम्र

गढ़पुरा। निज संवाददाता

प्रखंड क्षेत्र में गुरुवार को सुहागिन महिलाओं ने उल्लास के माहौल में तीज मनाया। दिन भर उपवास रहने के बाद महिलाओं ने सामूहिक रूप से विधिपूर्वक माता पार्वती की पूजा-अर्चना की। इस दौरान माता गौरी को प्रसन्न करने के लिए गीत भजन भी गाए। तीज के साथ ही प्रखंड क्षेत्र में चौठी चांद का पर्व भी हर्षोल्लास के साथ मना। इधर तीज को लेकर अधिकांश मोहल्लों में देर शाम तक खासी रौनक रही। घरों के अलावा शिव मंदिरों में भी रंग-बिरंगी साड़ी-चुनरी में सजी महिलाओं ने पूजा-अर्चना की। पावन शिव नगरी हरिगिरि धाम तथा अन्य शिवालयों में पूजा अर्चना को लेकर महिलाओं की खासी भीड़ देखी गई। महिलाओं ने फल, फूल, मिठाई, कपड़े अन्य शृंगार सामग्री माता गौरी को अर्पित कर अपनी श्रद्धा निवेदित कर श्रद्धा से पूजा अर्चना की। इस अवसर पर व्रतियों ने पुरोहितों से तीज व्रत की कथा भी सुनी। गढ़पुरा निवासी पंडित पितांबर मिश्र के अनुसार भगवान शिव को पाने के लिए माता पार्वती ने 108 जन्मों तक स्वयं यह व्रत किया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Women made unhygienic fast for untiring good luck