DA Image
15 नवंबर, 2020|5:09|IST

अगली स्टोरी

बछवाड़ा जंक्शन के प्लेटफार्म पर उगने लगे घास-पात

default image

कोरोना काल में महीनों से स्टेशन परिसर वीरान पड़ा है। बछवाड़ा जंक्शन के प्लेटफॉर्म की सतह पर घास- पात उगने लगे हैं। ट्रेनों का परिचालन लगातार ठप रहने से स्टेशन की तरफ जाने वाली एप्रोच रोड को लोग भूलने लगे हैं। स्टेशन रोड के दुकानदारों, रिक्शा व ऑटो चालकों के रोजगार- धंधे भी ठप पड़े हैं। वर्तमान में यहां रेलवे स्टेशन का सरोकार सिर्फ माल गाड़ियों के परिचालन से रह गया है। स्थानीय ग्रामीणों ने बताया कि कोरोना संकट को लेकर हुए लॉकडाउन में विगत 22 मार्च से ही इस रूट की सभी रेलगाड़ियों का परिचालन पूरी तरह बंद है। पिछले माह से कुछ दूरगामी एक्सप्रेस ट्रेनों का परिचालन शुरू भी कराया गया है, तो उसका स्टॉपेज बछवाड़ा जंक्शन पर नहीं है। इधर, एक ट्रेन जयनगर- पटना इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन का परिचालन शुरू कराया गया है। फिलहाल एकमात्र उक्त ट्रेन स्टेशन पर रूकती तो है किंतु ट्रेन में चढ़ने व उतरने वाले यात्री नदारद रहते। इक्के- दुक्के ट्रेनों के परिचालन व सभी स्टेशनों पर ट्रेनों का ठहराव नहीं होने से लोगों को रेलयात्रा में परेशानियां उठानी पड़ती है। लिहाजा अधिकतर लोग सड़क मार्ग से ही आवाजाही कर रहे हैं। ग्रामीणों ने बताया कि कभी पर्व- त्यौहार के मौके पर रेलवे स्टेशन परिसर गुलजार रहता था, आज कोरोना की मार स्टेशन पर साफ दिख रही है। अभी दुर्गा पूजा का सीजन चल रहा है। दीपावली व छठ तक रेलवे स्टेशनों का यही हालत रही तो लोगों को आवाजाही में भारी फजीहत झेलनी पड़ सकती है। नौकरी- पेशे कर रहे कई दैनिक रेल यात्रियों ने बताया कि लोकल ट्रेनों का परिचालन नहीं शुरू कराए जाने के कारण उन्हें सड़क मार्ग से बेगूसराय, समस्तीपुर, दलसिंहसराय, बरौनी आदि जगहों तक आवाजाही करने में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सैकड़ों कर्मियों को दफ्तर तक जाने- आने में साइकिल से रोज 25 से 30 किलोमीटर की दूरी तय करनी पड़ रही है। दूसरी तरफ रेलवे के वरीय अधिकारियों ने बताया कि 20 अक्टूबर से इस रूट होकर कई एक्सप्रेस ट्रेनों का परिचालन शुरू कराया जाना है। इन ट्रेनों में काठगोदाम, गंगासागर, मिथिला एक्सप्रेस आदि शामिल हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Weeds growing on the platform of Bachwara Junction