DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  बेगूसराय  ›  राष्ट्रकवि दिनकर की प्रारंभिक पाठशाला आज भी उपेक्षित

बेगुसरायराष्ट्रकवि दिनकर की प्रारंभिक पाठशाला आज भी उपेक्षित

हिन्दुस्तान टीम,बेगुसरायPublished By: Newswrap
Sat, 24 Apr 2021 07:11 PM
राष्ट्रकवि दिनकर की प्रारंभिक पाठशाला आज भी उपेक्षित

गढ़हरा(बरौनी)। संवाददाता

बरौनी के नगर परिषद बीहट अंतर्गत गढ़हरा बारो में स्थित राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर का प्रारंभिक पाठशाला ,मध्य विद्यालय बारो को वर्षों से हाई स्कूल का दर्जा देने और दिनकर के पढ़ने वाले कमरों को राष्ट्रीय धरोहर के रूप से संजोने की मांग को लेकर स्थानीय लोग संघर्षरत हैं। लेकिन आजतक सरकार की ओर से किसी तरह की पहल नहीं की गई है। जबकि की बिहार सरकार के कई मंत्री, सासंद, विधायक समेत वरीय अधिकारियों का आगमन निरंतर होते रहा है। लोगों को केवल आश्वासन ही मिला है। इस कारण लचर व्यवस्था के कारण आम आवाम में निराशा है। लोगों का मानना है कि करीब एक लाख आबादी वाले गढ़हरा बारो में एक भी हाई स्कूल नहीं होने से परेशानी बढ़ी हुई है। पूर्ण व्यवस्था होने के बावजूद हाई स्कूल नहीं होना दुर्भाग्य है। इस स्कूल को ये दोनों मांगे पूर्ण हो जायेंगे तो राष्ट्रकवि दिनकर के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

2020 में पूर्व विधायक बोगो सिंह के प्रयास से वर्तमान विधान सभा अध्यक्ष ने की अनुशंसा

वर्ष 1875 में स्थापित राष्ट्रकवि दिनकर की पाठशाला मध्य विद्यालय बारो का पांच कमरों वाली दिनकर भवन का जीर्णोद्धार के लिए बीते वर्ष पूर्व विधान परिषद सदस्य डॉ. दिलीप कुमार चौधरी ने राशि अनुशंसा की। बिहार सरकार के योजना एवं विकास विभाग से मुख्यमंत्री क्षेत्रीय विकास मद से नौ लाख 96 हजार 300 रुपया अनुशंसा की गयी। इससे स्थानीय बुद्धिजीवियों, सामाजिक, राजनीतिक में काफी हर्ष है। आज तक सरकारी योजनाओं या फिर राजनेताओं के आश्वासन की ओर टकटकी लगाए स्थानीय जनता निराश होनी लगी थी। लेकिन मटिहानी के पूर्व विधायक नरेंद्र कुमार सिंह उर्फ बोगों सिंह के प्रयास से सरकारी लाभ मिलना प्रारंभ माना जा रहा है। वहीं इस कार्य को आगे बढ़ाने में मध्य विद्यालय गढ़हरा के शिक्षक मो मुस्तफीज, एचएम विजय कुमार सिंह, समन्वयक राकेश रजक, दिनकर जागृति मंच बारो के सचिव कृष्णनंदन राय,मुरारी कुमार,ब्रजेश कुमार,प्रमोद राय, बारो के मुखिया मो जफर आलम,कन्हैया कुमार आदि विरासत को बचाने के लिए शुरू किए गए मुहिम में लगातार जुटे हैं।

इस विद्यालय में पढ़ने वाले कई विभूतियों ने रचा इतिहास

मध्य विद्यालय बारो के एचएम विजय कुमार सिंह ने बताया कि देश आजादी के पूर्व नगर परिषद बीहट क्षेत्र के बारो में 1875 ई. से निर्मित मध्य विद्यालय बारो है।यहाँ अनेक महापुरुष पढ़ाई कर बिहार समेत राष्ट्र को गौरवांवित किया है। बिहार सरकार के प्रथम सिंचाई मंत्री रामचरित्र सिंह, पटना उच्च न्यायधीश बहादुर ताहिर हुसैन एवं राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर जैसे कई विभूति इसी विद्यालय के छात्र रहे हैं। आज यह ऐतिहासिक भवन जर्जर हो रहा है। इस स्मृति, अस्मिता को राष्ट्रीय धरोहर के रूप में संजोने व इसे बचाना समय की मांग है।

संबंधित खबरें