Saturday, January 29, 2022
हमें फॉलो करें :

गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार बेगूसरायरेल अधिकारी नहीं लेते सुध, दायित्व से मुक्त होना ही श्रेयस्कर: शम्भू कुमार

रेल अधिकारी नहीं लेते सुध, दायित्व से मुक्त होना ही श्रेयस्कर: शम्भू कुमार

हिन्दुस्तान टीम,बेगुसरायNewswrap
Tue, 30 Nov 2021 07:41 PM
रेल अधिकारी नहीं लेते सुध, दायित्व से मुक्त होना ही श्रेयस्कर: शम्भू कुमार

बेगूसराय। नगर संवाददाता

रेल अधिकारियों की उपेक्षा का दंश झेल रही सोनपुर रेल मंडल उपयोगिता परामर्शदात्री समिति के सदस्य शम्भू कुमार ने अपने पद से मंगलवार को इस्तीफा दे दिया। डीआरयूसीसी सदस्य शम्भू कुमार ने मंगलवार को सोनपुर मंडल के डीआरएम व सीनियर डीसीएम को सदस्यों की उपेक्षा का आरोप लगाते हुए इस्तीफा पत्र सौंपा है। श्री कुमार ने इन रेल अधिकारियों पर आरोप लगाया है कि पत्र लिखने के बावजूद दो साल से कमेटी की एक भी बैठक न डिजिटल माध्यम से और न भौतिक रुप से की गई। रेलयात्रियों से जुड़ी समस्या के बारे में भेजे पत्र का भी इन रेल अधिकारी द्वारा कोई जवाब नहीं दिया गया। हालात ऐसे रहे कि फोन करने पर मेरा नम्बर ही ब्लॉक कर दिया गया। फिर ऐसी कमेटी में रहने का कोई औचित्य नहीं रह जाता है।

श्री कुमार ने प्रेस बयान जारी कर कहा है कि प्रधानमंत्री, रेलमंत्री तथा राज्य सभा सांसद राकेश सिन्हा के विकास के संकल्प को कुछ लोग व कुछ अधिकारी द्वारा धूमिल करने की कोशिश की जा रही है। आम लोग रोज स्थानीय रेलवे की समस्या और सुविधा को लेकर सदस्य से सम्पर्क करते हैं लेकिन रेल मंडल स्तर पर इन अधिकारियों द्वारा कोई संज्ञान नहीं लिया जाता है और न ही कोई जवाब ही दिया जाता है। इस कारण सदस्य व आम रेलयात्री ठगा सा महसूस कर रहे हैं। इस कारण से ही लोग समिति के सदस्य के कार्य पर भी प्रश्न चिन्ह लगाने लगे हैं। दूसरी तरफ रेल अधिकारियों द्वारा स्टेशन निरीक्षण के दौरान भी सदस्य को न कोई सूचना दी जाती है और न ही उनके सुझाव पर संज्ञान लिया जाता है। मंडल के रेल अधिकारी को भेजे गए इस्तीफा पत्र में कहा गया है कि जब जनसमस्याओं को आप तक पहुचाने में मेरा कोई रोल ही नहीं रह जाता है तो इस कमेटी में सिर्फ कागज पर और स्टेशन के बोर्ड पर अंकित नाम के लिए सदस्य बने रहने का कोई औचित्य नहीं रह जाता है। इसलिए इस दायित्व से मुक्त होना ही श्रेयस्कर रहेगा।

epaper

संबंधित खबरें