DA Image
28 नवंबर, 2020|1:33|IST

अगली स्टोरी

रेलवे का निजीकरण देश के संविधान पर हमला

default image

बरौनी तीन पंचायत के बिढ़निया बाजार में सीपीएम कार्यकर्ताओं ने धरना देकर रेलवे के निजीकरण करने तथा बिहार में बाढ़ व वर्षा से राज्य के बिगड़ते हालत पर रोष जताया।

रामचंद्र गुप्ता ने कहा कि रेलवे के निजीकरण के साथ ही भाजपा सरकार धर्मनिरपेक्षता, संवैधानिक अधिकारों, श्रमिक कानूनों आदि में भारी फेरबदल कर भारतीय संविधान कीआत्मा को समाप्त करने पर तुली है। कई कार्यकर्ताओं ने बिहार सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि कोरोना महामारी के बीच भाजपा और जदयू चुनाव को लेकर सक्रिय है। लोगों को जान बचाना मुश्किल हो रहा है। दोनों पार्टियां चुनाव के मूड में घर घर घूम रही है। राज्य में बाढ और वर्षा का कहर लगातार जारी है। ऐसे में सरकार पूरी तरह लाचार नजर आ रही है। अध्यक्षता जय गणेश चौरसिया ने की। रंजीत गुप्त, अशोक महतो, सुखदेव दास सहित दर्जनों लोगों ने अपनी बातें रखीं। ।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Privatization of railways attacked the country 39 s constitution