ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार बेगूसरायसफाई मजदूर व जमादारों का भौतिक सत्यापन, जियोटैग के साथ मांगा गया फोटोग्राफ

सफाई मजदूर व जमादारों का भौतिक सत्यापन, जियोटैग के साथ मांगा गया फोटोग्राफ

पेज तीन लीड... सफाई जमादार से लेकर, वाहन प्रभारी, आउटसोर्स एजेंसी के सुपरवाइजर से लेकर सफाई मजदूरों का शनिवार को...

सफाई मजदूर व जमादारों का भौतिक सत्यापन, जियोटैग के साथ मांगा गया फोटोग्राफ
हिन्दुस्तान टीम,बेगुसरायSat, 09 Dec 2023 08:15 PM
ऐप पर पढ़ें

बेगूसराय, निज प्रतिनिधि। नगर निगम क्षेत्र सभी 45 वार्डों को स्वच्छ व सुंदर बनाने के लिए तैनात किये गये इंस्पेक्टर, सफाई जमादार से लेकर, वाहन प्रभारी, आउटसोर्स एजेंसी के सुपरवाइजर से लेकर सफाई मजदूरों का शनिवार को भौतिक सत्यापन किया गया। इससे इन कर्मियों में दिनभर हड़कंप मचा रहा। नगर आयुक्त मनोज कुमार ने इन कर्मियों के द्वारा वार्ड में किये गये कार्यों की जांच से लेकर वास्तविक उपस्थिति की जानकारी के लिए निगम के 39 कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की गयी। नगर आयुक्त ने पत्र जारी कर कहा है नियमित रूप से सफाई नहीं होने व कचरे का उठाव नहीं होने पर दैनिक समाचार पत्रों व जनप्रतिनिधियों के द्वारा नगर निगम का ध्यान आकर्षित कराया जा रहा है।
आयुक्त के द्वारा यह निदेश दिया गया कि सुबह सात बजे से 11 बजे पूर्वाहन तक अपने वार्ड के पार्षद के साथ मिलकर व उस वार्ड में प्रतिनियुक्त सफाई कर्मी व जमादारों से पूछकर जांच पत्रक भरना है। साथ ही जियोटैग के साथ पार्षद समेत सफाई कर्मी व जमादार के साथ ग्रुप व व्यक्तिगत फोटो लेकर जांच पत्रक व फोटोग्राफ कार्यालय को उपलब्ध कराना है। शनिवार को सफाई मजदूरों से लेकर जमादारों ने जब पार्षद को खोजना शुरू किया तो अधिकतर पार्षद आश्चर्यचिकत थे कि एकाएक यह करिश्मा कैसे। पार्षद के साथ फोटो खिंचाने के लिए मजदूरों व जमादारों के बीच हलचल थी। डॉ. शगुफ्ता ताजवर ने बताया कि उनके वार्ड में 27 मजदूर थे। एक मजदूर छुट्टी पर थे।

जांच पत्रक में 12 कॉलम, ड्रेस में है या नहीं

नगर निगम की ओर से सफाईकर्मी से लेकर जमादारों का भौतिक सत्यापन के लिए दिये जांच पत्रक में 12 कॉलम दिये गये हैं। निगम की ओर से प्रतिनियुक्त किये गये कर्मियों के द्वारा निरीक्षण की तिथि व समय, नाम, पिता या पति का नाम, पता, पदनाम, निगम या एजेंसी, शैक्षणिक योग्यता, मोबाइन नंबर, किस वार्ड के किस गली मोहल्ला में कार्यरत, मोहल्ले में कब से कार्यरत, दिसंबर माह में कितने दिन उपस्थित, सफाईकर्मी या जमादार ड्रेस में है या नहीं व उनका कार्य संतोषप्रद या असंतोषप्रद है।

जांच पत्रक से खुलेगा सफाई मजदूरों का पूरा ब्योरा, कहीं सरकारी मुलाजिमों...

शनिवार को कर्मियों के द्वारा भरे गये जांच पत्रक से निगम व आउटसोर्स से जुड़े कर्मियों का पूरा ब्योरा सामने आ पाएगा। मसलन कितने कर्मी ड्रेसकोड का पालन करते हैं या नहीं। कितने मजदूर हैं जो साक्षर, अंगूठा छाप, मैट्रिक, इंटर, बीए व पीजी हैं। कौन मजदूर किस वार्ड में कब से कार्यरत हैं। एक वार्ड में मजदूरों की वास्तविक संख्या कितनी है। यह भी खुलासा होने वाला है कि निगम के कितने मजदूर हैं जो सरकारी मुलाजिमों से लेकर जनप्रतिनिधियों के घर का शौभा बढ़ा रहे हैं। देखने वाली बात यह होगी कि कितने मजदूरों की कार्यशैली संतोषजनक पाया जाता है। निगम के कितने व आउटसोर्स से जुड़े कितने मजदूर व सफाई जमादार कार्यरत हैं। नगर आयुक्त ने जियोटैग फोटो मांगकर यह साफ संदेश दिया है कि किसी भी स्तर पर गड़बड़ी हुई तो कार्रवाई के लिए तैयार रहने को भी कहा गया है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें