DA Image
2 दिसंबर, 2020|2:54|IST

अगली स्टोरी

सिर्फ सत्ता चाहिए एनडीए गठबंधन को: एआईएसएफ

default image

विभिन्न मांगों के समर्थन में राज्यव्यापी कार्यक्रम के तहत ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन जिला इकाई के बैनर तले छात्रों ने जीडी कॉलेज प्रजातंत्र स्मारक के समीप एक दिवसीय भूख हड़ताल कर विरोध जताया। इसका नेतृत्व जिला मंत्री किशोर कुमार ने किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला अध्यक्ष सजग सिंह ने की। इस दौरान धरनार्थियों ने केंद्र व सूबे के नीतीश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

एआईएसएफ के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य अमीन हमजा ने कहा कि इंटर पास होकर बच्चे घर बैठे हैं। इंटर की तरह ही स्नातक में नामांकन की व्यवस्था हो। सरकार धड़ल्ले से शिक्षण संस्थानों को नामांकन व फॉर्म भरने के नाम पर छात्रों से लूट खसोट करने की छूट दे रखी है। उस लूट खसोट की वजह से छात्र आर्थिक बोझ तले से दबे जा रहे हैं। कोरोना विस्फोट से स्थिति दिन प्रति दिन बिगड़ती जा रही है। इसकी चिंता सरकार को नहीं है। लेकिन विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए मूंछ पर हाथ फेर रहे हैं। एनडीएम की ऐसी सरकार को सत्ता में बने रहने का कोई अधिकार नहीं है। इस सवाल पर संगठन आने वाले दिनों में आमलोगों समेत छात्रों को गोल बंद कर बड़े आंदोलन करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि एक तरफ देश के छात्र नौजवान मेहनतकश मजदूर आर्थिक तंगी झेल रहे हैं। दूसरी तरफ सरकार लॉकडाउन की आड़ में पूरे देश को धीरे-धीरे निजी हाथों में बेचने की कोशिश कर रही है। इसके खिलाफ देश के युवाओं को एकत्रित होना पड़ेगा। सभा में अमन कुमार शर्मा ने कविता पाठ कर सबों का मन मोह लिया। भाकपा के पूर्व विधायक अवधेश कुमार ने छात्र नेताओं को लस्सी पिलाकर हड़ताल तोड़वाया। उन्होंने उनकी मांगों को सीएम नीतीश व पीएम मोदी तक पत्र भेजकर अवगत कराने का आश्वसन दिया।

एआईएसएफ की ये है मुख्य मांगें

गुस्साये छात्र कोरोना काल में जेईई, नेट, एनईईटी सहित विश्वविद्यालय की सभी तरह की परीक्षाओं को स्थगित करने, 6 माह का स्कूल रूम रेंट, बिजली बिल माफ करने, कमजोर संचालकों को सरकार आर्थिक मदद करने, सभी बड़े निजी अस्पतालों को अधिग्रहण कर उसका राष्ट्रीयकरण करने व उस अस्पताल में काम करने वाले कर्मियों को सरकारी कर्मी का दर्जा देने, बड़े तबकों को शिक्षा से बेदखल करने वाली नई शिक्षा नीति 2020 वापस लेने, मैट्रिक व इंटर में नामांकन व परीक्षा प्रपत्र भरने में मनमानी वसूली पर रोक लगाने, राज्य सरकार के आदेश अनुसार सभी छात्राओं व एससी -एसटी की छात्रों को पीजी तक की शिक्षा मुफ्त मुहैया कराने, रेलवे सहित रोजगार परक संसाधनो के निजीकरण पर रोक लगाने, प्रतियोगी परीक्षाओं में पारदर्शी बहाल करने की मांग कर रहे थे।

मौके पर जिला मंत्री किशोर कुमार, उपाध्यक्ष राकेश कुमार, कोषाध्यक्ष अमरेश कुमार, नगर ताइक्वांडो के अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी कैसर रेहान, सचिव विवेक कुमार, जीडी कॉलेज छात्र संघ प्रतिनिधि अनंत कुमार, एसबीएसएस कॉलेज के छात्र संघ प्रतिनिधि बसंत कुमार, कोषाध्यक्ष विपिन कुमार, सुमित कुमार, विकास कुमार, ललन कुमार, कृष्णा कुमार, अमोल कुमार, कुंदन कुमार, अनंत कुमार, सुभाष कुमार, आशुतोष कुमार आदि थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Only NDA coalition needs power AISF