DA Image
Sunday, December 5, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार बेगूसरायआरटीआई के तहत ससमय सूचना नहीं देना महंगा पड़ा

आरटीआई के तहत ससमय सूचना नहीं देना महंगा पड़ा

हिन्दुस्तान टीम,बेगुसरायNewswrap
Thu, 28 Oct 2021 07:40 PM
आरटीआई के तहत ससमय सूचना नहीं देना महंगा पड़ा

बरौनी निज संवाददाता

आरटीआई कानून के तहत मांगी गई जानकारी चार वर्ष विलंब से देने के मामले में राज्य सूचना आयोग के एक महत्वपूर्ण आदेश पर नार्थ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड पटना ने विधुत कार्यपालक अभियंता विधुत आपुर्ति प्रमंडल बरौनी बेगूसराय कार्यालय के तत्कालीन विधुत कार्यपालक अभियंता प्रवीण कुमार सेवानिवृत विधुत कार्यपालक अभियंता रतन कुमार व प्रशासी अधिकारी रंजीत कुमार के द्वारा आरटीआई नियमों की अवहेलना संबंधी आरोपों के लिए उत्तरदायी मानते हुए उनके विरुद्ध विभागीय कार्यवाही संचालित किया है।जो अभी तक प्रक्रियाधीन है।यह जानकारी आरटीआई के तहत ही शोकहारा निवासी आरटीआई एक्टिविस्ट गिरीश प्रसाद गुप्ता द्वारा मांगी गई सूचना में नार्थ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड पटना के लोक सूचना अधिकारी ओम प्रकाश ने आवेदक को गत 16 अक्टूबर 21 को उपलब्ध कराया है।आवेदक ने बताया कि पूर्व में राज्य सूचना आयोग ने उनके एक द्वितीय अपील आवेदन बाद संख्या 26036/14-15 दिनांक 2 जनवरी 2019 को निष्पादित करते हुए जेनरल मैनेजर एच आर प्रशासन नार्थ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड विधुत भवन बेली रोड पटना को आरटीआई धारा 20 (2) सूचना का अधिकार अधिनियम के अंतर्गत तत्कालीन राज्य सूचना आयुक्त ओम प्रकाश ने अनुशंसा करते हुए आदेश पारित किया था।आवेदक ने बताया कि उन्होंने वर्ष 2014 में लोक सूचना अधिकारी सह विधुत कार्यपालक अभियंता बरौनी से विधुत बिल में गड़बडी सुधार करने संबंधी सूचना मांगी थी।जिसे उन्होंने 30 दिनों के अंदर सूचना नहीं दिए तत्पश्चात प्रथम अपील के बाद आयोग में द्वितीय अपील दाखिल किया था।जहाँ उनके अपील पर संज्ञान लेते हुए जब आयोग द्वारा संबंधितों से स्पष्टीकरण पूछा गया।तब लोक सूचना अधिकारी द्वारा लगभग चार वर्ष बाद उन्हें बांछित सूचना को मुहैया कराया गया था।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें