DA Image
5 अगस्त, 2020|6:53|IST

अगली स्टोरी

News 5

default image

बूढ़ी गंडक नदी के जलस्तर बढ़ने के बाद बिदुलिया गांव के निकट तटबंध की सुरक्षा के लिए चल रहे मरम्मत कार्य को ठेकेदार द्वारा अधूरा छोड़ देने से गुस्साए ग्रामीणों ने बांध मरम्मत कार्य को पूरा करने की मांग को लेकर शनिवार की सुबह मेघौल स्कूल चौक पर एसएच 55 को जाम कर दिया। जाम स्थल पर मौजूद लोग प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। ग्रामीणों का कहना था कि कटाव स्थल पर मिट्टी बोङा सहित बचाव कार्य की कोई भी सामग्री उपलब्ध नहीं है। वहीं ठेकेदार जान-बूझकर मरम्मत कार्य को अधूरा छोड़ कर मजदूरों को लेकर स्थल पर से भाग खड़ा हुआ। इस कारण तटबंध पर पानी का दबाव बढते ही टूटने का खतरा बना हुआ था। लगभग एक घंटे तक चले सड़क जाम के बाद सीओ सुबोध कुमार, थानाध्यक्ष दिनेश कुमार, जदयू कोऑपरेटिव सेल के प्रदेश महासचिव अवनीश कुमार वर्मा, मेघौल मुखिया पुरुषोत्तम सिंह, अश्विनी प्रसाद सिंह, सरपंच प्रतिनिधि सरोज कुमार, समाजसेवी गोपाल कुमार ने आक्रोशित लोगों को समझा कर तटबंध के मरम्मत का काम पुनः शुरू करने के आश्वासन के बाद सड़क जाम हटवाया। इस संबंध में सीओ ने बताया कि ठेकेदार द्वारा बिदुलिया गांव के निकट तटबंध मरम्मत कार्य को अधूरा छोड़ दिया गया था। जिससे लोगों में गलतफहमी हो गई थी। बाढ नियंत्रण प्रमंडल रोसड़ा के एक्जीक्यूटिव इंजीनियर से बात कर काम शुरू करने की बात पर आक्रोशित ग्रामीण शांत हो गए। इसके बाद सङक जाम हटवाया गया।