DA Image
4 जून, 2020|6:42|IST

अगली स्टोरी

नगर निगम गोलीबारी कांड: कुख्यात रामभरोसी की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी

default image

नगर निगम कार्यालय परिसर में शुक्रवार को गोली मारकर होमगार्ड जवान सहित तीन लोगों को गोली घायल करने के मामले में पुलिस ने रतनपुर निवासी कुख्यात रामभरोसी सिंह की गिरफ्तारी के लिए उसके घर पर छापेमारी की। रामभरोसी व उसके गुर्गोँ की तलाश में कई थानों की पुलिस ने विभिन्न ठिकानों पर छापेमारी की। इस दौरान रामभरोसी या उसके गुर्गे पुलिस के आने की भनक लगते ही फरार हो गए। छापेमारी का नेतृत्व एसडीपीओ राजन सिन्हा कर रहे थे। एसडीपीओ ने बताया कि कुख्यात अपराधी रामभरोसी सिंह के यहां छापेमारी के दौरान उसके घर से एक पिस्तौल, एक देसी कट्टा, चार गोली बरामद किया गया। उन्होंने बताया कि पुलिस ने रामभरोसी सिंह की पत्नी व उसके तीन भाइयों की पत्नी को गिरफ्तार किया है। बताया कि गिरफ्तार सभी महिलाओं को जेल भेजा जा रहा है। गोलीबारी मामले में रामभरोसी सिंह सहित 10 नामजदबेगूसराय। नगर निगम कार्यालय परिसर में बंदोवस्ती के दौरान शुक्रवार को बदमाशों ने गोली मारकर होमगार्ड जवान अशोक कुमार यादव सहित तीन लोगों को घायल कर दिया था। इस मामले में ड्यूटी पर तैनात एएसआई प्रेम प्रसाद पाल ने कुख्यात रामभरोसी सिंह सहित 10 लोगों को नामजद आरोपित बनाया है। नगर थाना में एएसआई ने आवेदन देकर रतनपुर निवासी रामबालक सिंह के पुत्र रामभरोसी सिंह, उसके भाई संजीव सिंह, राजीव सिंह के अलावा गोपाल सिंह, छोटू सिंह, दिनकर कुमार, गुलशन कुमार, विनायक उर्फ सिंटू, चंदन महतो, विपिन महतो को आरोपित किया है। पुलिस ने शुक्रवार को विनायक उर्फ सिंटू को गिरफ्तार किया था। थानाध्यक्ष ने बताया कि लिखित शिकायत के आधार पर प्राथमिकी दर्ज की जा रही है। एसडीपीओ राजन सिन्हा ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज खंगाला जा रहा है। इसके आधार पर घटना में शामिल अन्य बदमाशों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। तीन पुलिसकर्मी के भरोसे नगर निगम में हो रही थी डाक की प्रक्रियाबेखौफ बदमाशों ने जमकर मचाया उत्पात, गोली मारकर होमगार्ड के जवान सहित तीन को किया घायलनगर निगम परिसर में सीसीटीवी नहीं कर रहा था कामबेगूसराय। नगर प्रतिनिधिनगर निगम प्रशासन के लिए 13 मार्च काला दिन साबित हुआ। बदमाशों ने ऐसी घटना को अंजाम दिया जिसे लोग बहुत दिनों तक नहीं भूलेंगे। बेखौफ बदमाशों ने बंदोवस्त डाक प्रक्रिया के दौरान दिनदहाड़े कार्यालय परिसर में गोली मारकर होमगार्ड के जवान सहित तीन लोगों को गंभीर रूप से जख्मी कर दिया। घटना के बाद पुलिस प्रशासन के अलावा नगर निगम प्रशासन की कार्यशैली पर सवाल उठ रहे हैं। लोगों का कहना है कि आम तौर पर कहीं भी डाक प्रक्रिया या टेंडर के दौरान भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की जाती है। फिर नगर निगम में एक एएसआई व दो होमगार्ड जवान के भरोसे आखिर क्यों डाक की प्रक्रिया पूरी की जा रही थी। लोगों का कहना है कि थाने से मात्र कुछ सौ मीटर की दूरी पर बदमाश सरेआम तांडव करते हैं फिर आराम से भाग जाते हैं। आखिर पुलिस कर क्या रही थी। पुलिस जांच में यह भी सामने आया कि नगर निगम कार्यालय परिसर में लगा सीसीटीवी जनवरी महीने से ही खराब पड़ा है। आखिर इतने दिनों से खराब पड़े सीसीटीवी कैमरे को निगम प्रशासन ने दुरूस्त क्यों नहीं करवाया। सवाल उठता है कि किसी भी तरह के टेंडर की प्रक्रिया के दौरान मजिस्ट्रेट स्तर के अधिकारी के साथ पुलिस अधिकारी व जवान को ड्यूटी पर लगाया जाता है। आखिर इस मामले को हल्के में क्यों लिया गया। क्यों एक एएसआई और दो जवान को ही ड्यूटी पर लगाया गया। जबकि आम से लेकर खास तक को शु्क्रवार को होने वाली डाक प्रक्रिया के मद्देनजर अनहोनी की आशंका एहसास था।घायल जवान ने कहा- कोई पुलिस अधिकारी मिलने नहीं आएनगर निगम में डाक प्रक्रिया के दौरान बदमाशों की गोली से घायल ड्यूटी पर तैनात होमगार्ड के जवान का सदर अस्पताल में इलाज चल रहा है। पीड़ित जवान ने कहा कि बिहार पुलिस के एक भी आला अधिकारी उनकी सुधि लेने तक नहीं आए। होमगार्ड के अधिकारी व साथी जवान दुख के समय साथ खड़े रहे। पीड़ित जवान ने बताया कि वह अपने एक अन्य साथी जवान व एक पुलिस अधिकारी के साथ नगर निगम में ड्यूी पर थे। इस दौरान परिसर में कुछ लोगों के बीच मारपीट की घटना होने लगी। देखते ही देखते बदमाशों ने दो लोगों को गोली मार दी। जब वह घायल को बचाने दौड़े तो बदमाशों ने उन्हें भी गोली मार दी। वह घायल अवस्था में ही किसी तरह अस्प्ताल भागकर पहुंचे। कहते हैं एसपीएसपी अवकाश कुमार ने बताया कि नगर निगम में गोली मारकर होमगार्ड जवान सहित तीन लोगों को गोली मारकर घायल करने के मामले में पुलिस अपनी तरफ से प्राथमिकी दर्ज कर मामले की जांच में जुट गई है। उन्होंने सुरक्षा को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि नगर थाना को फोर्स भेजनी थी। इस मामले की भी जांच की जाएगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Municipal Corporation firing case Raids for arrest of infamous Rambharosi