DA Image
27 अक्तूबर, 2020|5:19|IST

अगली स्टोरी

मिड डे मील घोटाला: 101 स्कूलों से साढ़े 23 लाख रुपए की वसूली की जाएगी

file photo

मिड डे मील योजना में नायाब तरीके से घोटाला किया जा रहा है। वास्तविक से अधिक बच्चों की उपस्थिति दर्ज कर इस गोरखधंधे को अंजाम दिया जाता है। मामला पकड़े जाने पर विभाग ने जिले के 101 स्कूलों से आर्थिक दंड करते हुए 23 लाख 67 हजार 59 रुपए की वसूली का आदेश दिया है। 

यदि तय समय सीमा के अंदर राशि जमा नहीं की जाती है तो उनके वेतन व मानदेय से हर माह 20 प्रतिशत की वसूली तबतक होगी जबतक की जुर्माने की राशि पूरी नहीं हो जाए। मिड डे मील योजना के कार्यक्रम अधिकारी ने यह आदेश संबंधित स्कूलों के एचएम को दिया है। इस आदेश से इन शिक्षकों में हड़कंप मच गया है। बताया गया है कि एमडीएम के प्रखंड साधन सेवी की ओर से टैब आधारित निरीक्षण किया गया था। निरीक्षण रिपोर्ट को निदेशालय स्तर से समीक्षा की गयी। भौतिक उपस्थिति व पिछले एक हफ्ते की औसत उपस्थिति का मिलान करने पर दस प्रतिशत से अधिक अंतर पाया गया। शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव व मिड डे मील योजना के निदेशक ने योजना के संचालन में इसे अनियमितता करार देते हुए आर्थिक दंड जमा करने का आदेश दिया।

डीपीओ ने इन एचएम को राशि जमा करने का निर्देश दिया। इस आदेश के आलोक में एचएम ने डीईओ के समक्ष अपील की। डीईओ ने सुनवाई करते हुए साक्ष्य व बयान के आधार पर शिक्षकों के दावे को निरस्त करते हुए विभागीय आदेश के अनुपालन का निर्णय सुनाया। इधर, एमडीएम के डीपीओ ने पत्र जारी करते हुए 15 दिनों के अंदर दंडित अधिरोपित राशि को बिहार मिड डे मील योजना समिति के पक्ष में डिमांड ड्राफ्ट के माध्यम से राशि जमा करने का आदेश दिया। कहा कि समय पर राशि जमा नहीं करने पर वेतन व मानदेय की राशि के 20 प्रतिशत के हिसाब से वसूली होती रहेगी जबतक कि दंड की राशि पूरी न हो जाए। हालांकि कोर्ट द्वारा जिन विशिष्ट मामलों में राशि वसूली के स्थगन का आदेश पारित हुआ है तो उसका अनुपालन किया जाएगा। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Mid Day Meal Scam Rs 23 lakh will be collected from 101 schools