DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › बेगूसराय › वीरपुर पंचायत चुनाव में आए कई रोचक नतीजे
बेगुसराय

वीरपुर पंचायत चुनाव में आए कई रोचक नतीजे

हिन्दुस्तान टीम,बेगुसरायPublished By: Newswrap
Mon, 11 Oct 2021 07:40 PM
वीरपुर पंचायत चुनाव में आए कई रोचक नतीजे

वीरपुर। निज संवाददाता

पंचायत चुनाव में इस बार कई रोचक नतीजे सामने आए। लोगों ने इसबार जाति,धर्म और क्षेत्रवाद से ऊपर उठकर मतदान किया। गांववाद पंचायत चुनाव की विशेषता रही है। पर वह भी इस बार नही दिखा। दलीय राजनीति भी काम नहीं आई। जनता में विकास की भूख दिखी। लोग अपने पंचायत में नेत्तृव तलाशते दिखे। मुखिया,पंसस,वार्ड सदस्य बन कर सरकारी योजनाओं के ठेकेदार बन कर मोटी कमाई करने वाले जनप्रतिनिधियों को लोगों ने पसंद नहीं किया। वे विकास की उम्मीद लिए नए लोगों को मौका देकर आजमाने की नीति पर अपना मतदान किया। युवाओं को पंचायत की सत्ता सौंपी। किन्तु पुराने को हटाने की हवा के बीच कुछ प्रतिनिधि अपने समीकरण और जनता के बीच हमेशा बने रहने के कारण फिर से जीत हासिल करने में कामयाब हुए। पर्रा के पंसस नवीन सिंह,नौला की पंसस कुमारी अनामिका व गेनहरपुर की पंसस कलावती देवी के काम पर जनता ने मुहर लगाते हुए फिर से उन्हें अपना प्रतिनिधि चुना। जगदर की मुखिया आशा देवी को उनके विरोधी वोटों के बिखराव का फायदा मिला। मुखिया पद पर केवल वही फिर से गांव की सत्ता में लौट सकी। सरपंच पद पर नौला में लोगों ने फिर से विश्वनाथ पंडित और जगदर में प्रेमशीला देवी पर विश्वास जताया। डीहपर पंचायत में पहली बार एक ही घर से मुखिया और सरपंच दोनों चुने गए। यहां से राजीव कुमार ने मुखिया पद पर बाबू खान को 156 वोट से हरा कर जीत दर्ज की,तो उनकी भाभी रीभा देवी 214 वोट से संजय कुमार को हरा कर सरपंच की कुर्सी की हकदार बनी। रीभा कांग्रेस प्रखंड अध्यक्ष संजीव कुमार सिंह की पत्नी हैं। संजीव मुखिया पद पर निर्वाचित राजीव कुमार के बड़े भाई हैं।

संबंधित खबरें